This is default featured slide 1 title

Go to Blogger edit html and find these sentences.Now replace these sentences with your own descriptions.This theme is Bloggerized by Lasantha Bandara - Premiumbloggertemplates.com.

This is default featured slide 2 title

Go to Blogger edit html and find these sentences.Now replace these sentences with your own descriptions.This theme is Bloggerized by Lasantha Bandara - Premiumbloggertemplates.com.

This is default featured slide 3 title

Go to Blogger edit html and find these sentences.Now replace these sentences with your own descriptions.This theme is Bloggerized by Lasantha Bandara - Premiumbloggertemplates.com.

This is default featured slide 4 title

Go to Blogger edit html and find these sentences.Now replace these sentences with your own descriptions.This theme is Bloggerized by Lasantha Bandara - Premiumbloggertemplates.com.

This is default featured slide 5 title

Go to Blogger edit html and find these sentences.Now replace these sentences with your own descriptions.This theme is Bloggerized by Lasantha Bandara - Premiumbloggertemplates.com.

Saturday, April 25, 2015

भूकंप का कहर: नेपाल में करीब 1500, भारत में 90 से अधिक की मौत


काठमांडो : नेपाल में शनिवार को 7.9 तीव्रता के शक्तिशाली भूकंप से करीब 1,500 लोगों की मौत हो गयी और एक यूनेस्को विश्व विरासत स्थल तथा राजधानी में सदियों पुरानी धरहरा मीनार सहित कई प्रमुख इमारतें क्षतिग्रस्त हो गईं। यह बीते 80 वर्षों का सबसे भयावह भूकंप था।
भूकंप का केंद्र काठमांडो से उत्तर पश्चिम में करीब 80 किलोमीटर दूर लामजुंग में था और बिहार तथा पश्चिम बंगाल और पूर्वी भारत के कई शहरों में भी इसका असर महसूस किया गया। चीन के साथ ही पाकिस्तान और बांग्लादेश में भी भूकंप महसूस किया गया। भूकंप की तीव्रता 7.9 आंकी गई और इसके बाद 4.5 अथवा इससे अधिक तीव्रता के कम से कम 16 झटके महसूस किए गए।
नेपाल के वित्त मंत्री राम शरण महत ने ट्वीट किया, सेना का अनुमान है कि अब तक 1457 लोगों की मौत हो चुकी है। नेपाली गृह मंत्रालय के अनुसार भक्तपुर में 150, ललितपुर में 67 और धदिंग जिले में 37 लोगों की मौत हुई है। इसके अलावा देश के पूर्वी हिस्से में 20 लोग, पश्चिमी क्षेत्र में 33 लोगों की मौत हुई।
नेपाल में कई मंदिर ध्वस्त हो लेकिन चमत्कारिक ढंग से पांचवीं सदी के पशुपतिनाथ मंदिर को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है। काठमांडो घाटी की अधिकांश इमारतें ध्वस्त हो गईं जिनमें सैकड़ों लोगों की मौत हो गई। दो सौ साल पुरानी धरहरा मीनार के मलबे से कम से कम 180 शवों को निकाला गया है।

इससे पहले नेपाली अधिकारियों ने कहा था कि मरने वालों संख्या 500 से 600 के बीच है। राहत एवं बचाव अभियान के बाद जानमाल के नुकसान की सही तस्वीर सामने आ सकेगी। ढकल ने कहा कि पांचवीं सदी के सुप्रसिद्ध पशुपतिनाथ मंदिर को नुकसान के बारे में कोई जानकारी नहीं है।

घनी आबादी वाले काठमांडो घाटी में कई इमारतें ढह गईं जिससे सिर्फ यहीं पर 100 से अधिक लोगों की मौत हो गई। वीडियो फुटेज में कई इमारतों को ढहते हुए दिखाया गया है और कई इमारतों में दरारे आ गई हैं। भूकंप के कारण सड़कों पर बड़े गडढे हो गए हैं।

भूकंप के कारण यूनेस्को विश्व विरासत स्थल में शुमार काठमांडो का दरबार चौक पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया। अधिकारियों ने कहा है कि अब तक 150 से ज्यादा लोगों के मारे जाने की खबर मिली है। नेपाल पुलिस के प्रवक्ता कमल सिंह बान ने बताया कि सबसे पहले दिन में 11 बजकर 56 मिनट पर भूकंप आया और इसके बाद क्षटका महसूस किया गया।

उन्होंने बताया, पोखरा में कुछ नुकसान हुआ है। गोरखा जिले में 10-12 लोगों की मौत हो गयी। वहां पर संचार सेवा ध्वस्त हो गयी है। उन्होंने कहा, हम जानकारी जुटा रहे हैं और लोगों को निकालने के लिए काम कर रहे हैं।

नेपाल भूकंप : भारतीय दूतावास में एक मौत

काठमांडू स्थित भारतीय दूतावास के एक कर्मचारी की बेटी की भूकंप में मौत हो गई। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने शनिवार एक ट्वीट में कहा, "दूतावास परिसर में स्थित एक आवास दुर्भाग्य से ध्वस्त हो गया। इस हादसे में दूतावासकर्मी मदन की बेटी की मौत हो गई, जबकि उसकी पत्नी गंभीर रूप से घायल हो गई।"

विदेश सचिव एस. जयशंकर ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, "नेपाल में भूकंप की वजह से काठमांडू और अन्य इलाकों में भीषण तबाही हुई है। भारतीय दूतावास को भी क्षति पहुंची है।"

विदेश मंत्रालय ने नियंत्रण कक्ष शुरू किया


नेपाल में आए भीषण भूकंप से संबंधित सवालों का लोगों को जवाब देने के लिए विदेश मंत्रालय (एमईए) ने चौबीस घंटे का एक नियंत्रण कक्ष शुरू किया है। मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने ट्वीट किया, "मंत्रालय ने नेपाल में आए भूकंप से संबंधित सूचनाएं प्रदान करने के लिए एक नियंत्रण कक्ष स्थापित किया है, जिसका नंबर : +91 112301 2113, +91 2301 4104, +91 11 2301 7905 है।"

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट किया कि काठमामांडू में भारतीय दूतावास का हेल्पलाइन नंबर : +977 9851107021, 9851135141 है। उन्होंने आगे कहा, "इंडोनेशिया से 10 घंटे की उड़ान के बाद अभी भारत पहुंची हूं। नेपाल व हमारे पूर्वी राज्यों में भीषण भूकंप की खबर सुनकर दुख हुआ।"

वायुसेना का सी-130 एनडीआरएफ दल के साथ नेपाल रवाना

नेपाल में आए भीषण भूकंप से जूझ रहे लोगों की मदद के लिए भारतीय वायुसेना का एक विमान सी-130 राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) के एक दल और राहत सामग्री के साथ शनिवार को हिंडन एयरबेस से नेपाल के लिए रवाना हो गया। आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि भारतीय वायुसेना के विमान सी-130 ने उत्तर प्रदेश के हिंडन एयरबेस से उड़ान भरी।

एनडीआरएफ के दल तथा राहत सामग्री को उतारने के बाद विमान पोखरा में सड़क व संचार व्यवस्था में आई बाधा का हवाई जायजा लेगा। इसी बीच, खबर आई है कि माउंट एवरेस्ट आधार शिविर में भारतीय सेना का पर्वतारोही दल सुरक्षित है।

भूकंप पर हालात का आकलन करेंगे रूडी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को नेपाल में आए भीषण भूकंप के बाद हिमालयी देश से सटे राज्यों के हालात के आकलन के लिए केंद्रीय मंत्री राजीव प्रताप रूडी को नियुक्त किया। प्रधानमंत्री ने हालात पर चर्चा के लिए मंत्रियों व शीर्ष सरकारी अधिकारियों की एक बैठक भी बुलाई है।

भारत मौसम विभाग (आईएमडी) के मुताबिक, दिल्ली में भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर छह थी, जो एक मिनट तक जारी रहा। अमेरिकी भूगर्भ सर्वेक्षण के मुताबिक, भूकंप का केंद्र राजधानी काठमांडू से 75 किलोमीटर उत्तर-पश्चिम लामजुंग जिले में स्थित था। भूकंप के आधे घंटे बाद तक झटके महसूस किए गए।

मोदी ने रूडी को नेपाल की सीमा से लगे राज्यों- बिहार तथा उत्तर प्रदेश के हालात का आकलन करने का निर्देश दिया है। उन्होंने उत्तर प्रदेश, बिहार तथा सिक्किम के मुख्यमंत्रियों से बातचीत की। वह नेपाल के प्रधानमंत्री सुशील कोईराला से भी बातचीत करने का प्रयास कर रहे हैं, जो फिलहाल विदेश में हैं।

प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने ट्वीट किया, "मोदी ने नेपाल के राष्ट्रपति राम बरन यादव से बातचीत की।" बयान के मुताबिक, पीएमओ ने भूटान के भारतीय दूतावास से भी बातचीत की। दूतावास भूटान के शीर्ष अधिकारियों के संपर्क में है।

भूकंप राहत कार्य में नियुक्त किए गए एनवाईकेएस, एनएसएस के स्वयंसेवी

खेल मंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने शनिवार को देश के भूकंप पीड़ित इलाकों में राहत एवं बचाव कार्य के लिए नेहरू युवा केंद्र संगठन (एनवाईकेएस) और राष्ट्रीय सेवा योजना (एनएसएस) के स्वयंसेवियों को भेजे जाने के निर्देश दिए।

खेल मंत्री सोनोवाल ने भूकंप के कारण भारत और नेपाल में हुई जान-माल की हानि पर दुख व्यक्त किया है। उन्होंने कहा, "इन दोनों संगठनों के स्वयंसेवी राहत कार्यो में मदद प्रदान करेंगे, क्योंकि वे जमीनी स्तर पर मदद पहुंचाएंगे।"

काठमांडू घाटी के पुराने कस्बे तबाह : भारतीय राजदूत

नेपाल में भारत के राजदूत रंजीत रे ने शनिवार को कहा कि वह नेपाल में भूकंप के कारण मरने वालों की सही संख्या का पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं। राय ने फोन पर बताया, "भूकंप की वजह से काठमांडू घाटी के पुराने कस्बे प्रभावित हुए हैं।"

भारत ने शनिवार को नेपाल के लिए दो विमानों में राहत और बचाव सामग्री भेजी। भारतीय रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने कहा कि दो सी-130 जे विमानों को हिंडन एयरबेस से नेपाल के लिए रवाना किया गया। इन विमानों में बचाव अभियान में मदद के लिए 45 बचावकर्मी और कुछ स्नीफर कुत्ते सवार थे। भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी कहा है कि चिकित्सा दलों को नेपाल भेजा जाए।

भूकंप में 19वीं सदी का काठमांडू टावर धराशायी

नेपाल में शनिवार को आए भीषण भूकंप से 19वीं सदी का नौमंजिला धरहरा टावर पूर्णत: धराशायी हो गया, वहीं पूरे नेपाल में तबाही का आलम है। सन् 1832 में नेपाल के प्रथम प्रधानमंत्री भीमसेन थापा द्वारा बनवाया गया यह टावर एक प्रतिष्ठित स्मारक था। इसका निर्माण एक सैन्य निगरानी टावर के रूप में किया गया था, जो बाद में काठमांडू का एक मुख्य ऐतिहासिक स्थल बन गया।

Friday, April 24, 2015

समाप्त हो पंचायतों में सरपंच पति संस्कृति : पीएम मोदी

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पंचायतों में ‘सरपंच पति’ संस्कृति समाप्त करने का आह्वान करते हुए शुक्रवार को गरीबी उन्मूलन तथा शिक्षा के प्रचार प्रसार में निर्वाचित ग्राम प्रतिनिधियों के लिए नेतृत्व वाली भूमिका की वकालत की।
सरपंच पत्नियों के कामकाज में पतियों की कथित दखल के बारे में मोदी ने एक राजनीतिक घटनाक्रम का जिक्र किया। उनके अनुसार, किसी ने उनसे कहा कि वह एसपी (सरपंच पति) है। प्रधानमंत्री ने कहा कि एसपी का काम चल रहा है। कानून ने महिलाओं को अधिकार दिए। जब कानून उन्हें अधिकार देता है तो उन्हें अवसर भी मिलना चाहिए। इस एसपी संस्कृति को खत्म करें। उन्हें (महिलाओं को) अवसर दिया जाना चाहिए। उन्हें आगे बढ़ाया जाना चाहिए।
मोदी ने यहां राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस समारोह में अपने संबोधन में बच्चों के बीच में ही पढ़ाई छोड़ देने पर चिंता जाहिर की और कहा कि इस सिलसिले पर रोक लगाने में पंचायतें अहम भूमिका निभा सकती हैं। महात्मा गांधी को उद्धृत करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत गांवों में बसता है। हमें यह सोचने की जरूरत है कि हमारे गांवों का विकास कैसे हो। यहां तक कि, सुदूरवर्ती गांव में भी लोगों के बड़े सपने हैं। सोचिये कि अपने गांव के लिए आप अगले पांच साल में क्या हासिल कर सकते हैं। गुजरात में मोदी जब मुख्यमंत्री थे तब एक पूर्ण महिला ग्राम पंचायत गए थे। इसका जिक्र करते हुए उन्होंने बताया कि वहां की सरपंच ने उनसे कहा कि उसका ध्येय यह सुनिश्चित करना है कि गांव में कोई निर्धन न बना रहे।
मोदी ने कहा कि क्या हमारे देश में पंचायतों ने कभी सोचा कि हमारे देश में कोई भी गरीब न बचना चाहिए। अगर एक गांव एक साल में पांच व्यक्तियों की गरीबी दूर करता है तो देश में कितना बड़ा बदलाव आ जाएगा। उन्होंने कहा कि गांवों में बच्चों की शिक्षा और उनके टीकाकरण पर पंचायत सदस्यों को विशेष ध्यान देना चाहिए।
प्रधानमंत्री ने सुझाव दिया कि सरपंचों को उनके गांव के कार्यरत एवं सेवानिवृत्त कर्मचारियों की बैठकों के आयोजन की पहल करनी चाहिए और हर तरह से गांवों के कायापलट में सामुदायिक भागीदारी सुनिश्चित करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि ये सभी काम बजट की सीमाओं से नहीं जुड़े हैं। हम हमारे गांवों का तब तक विकास नहीं कर पाएंगे जब तक हमारे मन में उनके लिए सम्मान और गर्व का भाव नहीं होगा। हमें लोगों को प्रेरित करना हो, नेतृत्व मुहैया कराना होगा। मोदी ने कहा कि इसके लिए बजटीय प्रावधान के बजाय दृढ़ संकल्प की जरूरत है। उन्होंने इस बारे में गांव का जन्मदिन मनाने जैसे कुछ सुझाव भी दिए। पीएम ने पंचायत सदस्यों से पंचवर्षीय दृष्टि के साथ ठोस विकास योजनाओं पर काम करने को कहा जो उनके गांवों में सकारात्मक बदलाव ला सकें। मोदी ने ‘एनुअल डिवोल्यूशन इन्डेक्स (स्टेट्स) अवार्ड’ और ई-पंचायत अवार्ड भी दिए। उन्होंने इस मौके पर सम्मानित होने वाली जिला परिषदों और ग्राम पंचायतों को बधाई भी दी।

परंपरागत विधि-विधान के साथ केदारनाथ धाम के कपाट खुले

देहरादून : भगवान शिव के बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक केदारनाथ के कपाट शुक्रवार सुबह परम्परागत विधि विधान के साथ वैदिक मंत्रोच्चार और सेना के बैण्ड की धुन के बीच ग्रीष्मकाल में दर्शन के लिए खुल गये। गंगोत्री और यमुनोत्री के कपाट 21 अप्रैल को खुल गये थे और बद्रीनाथ के कपाट 26 अप्रैल को खुलने हैं।
बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति के अध्यक्ष गणेश गोदियाल के अनुसार, पूर्व निर्धारित लग्नानुसार शुक्रवार सुबह 8.50 बजे रुद्रप्रयाग के जिला प्रशासन और मंदिर समिति के प्रतिनिधियों की उपस्थिति में समुद्रतल से 3581 कि.मी. की ऊंचाई पर स्थित केदारनाथ मंदिर के सीलबन्द कपाट खोले गये। इसके साथ ही मंदिर में दर्शन कार्यक्रम शुरू हो गया।
आज प्रात: जिला प्रशासन, मंदिर समिति के पदाधिकारियों की मौजूदगी में मंदिर के दक्षिणी गेट की सील खोली गयी। फिर रावल, मुख्य पुजारी मंदिर समिति के कर्मचारियों और हक-हकूकधारियों के मंदिर में प्रवेश के बाद गर्भ गृह पर लगी सील खोली गयी। इसके बाद मुख्य द्वार भी खोला गया। 25 अप्रैल को भैरवनाथ के कपाट खोलने के बाद केदारनाथ में सुबह की दैनिक पूजा एवं अन्य विधि विधान संपन्न किए जाएंगे।
गोदियाल के अनुसार, इस अवसर पर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी, राज्यपाल डॉ के.के. पॉल, मुख्यमंत्री हरीश रावत, पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं प्रदेश कांग्रेस प्रभारी अंबिका सोनी, जितिन प्रसाद और राज्य कैबिनेट के कई सदस्य उपस्थित थे। इन दिनों पूरा केदारनाथ धाम बर्फ की मोटी चादर से ढका हुआ है। इस अवसर पर प्रख्यात सूफी गायक कैलाश खेर भी धाम में मौजूद थे।
शीतकाल में केदार की पूजा उनके शीतकालीन गद्दी स्थल उखीमठ स्थित ओंकारेश्वर मंदिर में होती है। वहां से केदार की डोली गुरुवार शाम ही केदारधाम पहुंच गई थी। केदारनाथ जाने के लिये ऋषिकेश से 207 कि.मी. तक वाहन से गौरीकुण्ड तक जाना पड़ता है तथा वहां से लगभग 19 कि.मी. की पैदल यात्रा करनी पड़ती है। बैकुण्ठ धाम के नाम से भी विख्यात बद्रीनाथ के कपाट 26 अप्रैल को खुल रहे हैं।

Thursday, April 23, 2015

'चीन ने चेताया, उत्तर कोरिया कर रहा परमाणु हथियारों का प्रसार'

सोल : चीन के परमाणु विशेषज्ञों का मानना है कि उत्तर कोरिया के पास शायद 20 परमाणु हथियार है और उसके पास इस आंकड़े को अगले साल तक दोगुना करने लायक यूरेनियम संवर्धन क्षमता हो सकती है।
वॉल स्ट्रीट जर्नल में आज कहा गया है कि यह अनुमान पूर्व में चीन द्वारा किए गए आकलन से कहीं ज्यादा है। साथ ही यह हालिया अमेरिकी आकलन से भी अधिक है जिसके अनुसार, उत्तर कोरिया के पास परमाणु हथियारों की संख्या 10 से 16 के बीच है।
उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम के एक अग्रणी विशेषज्ञ सीजफ्राइड हेकर ने कहा कि प्योंगयांग को परमाणु हथियार रहित करने के लिए समझा रहे अंतरराष्ट्रीय समुदाय की चुनौती उत्तर कोरिया के परमाणु हथियारों के भंडार से बढ़ेगी।
चीनी अनुमान, उसके सहयोगी की परमाणु महत्वाकांक्षा के बारे में बीजिंग में बढ़ती चिंता को जाहिर करता है। इससे विशेषज्ञों का यह नवीनतम अनुमान भी जाहिर होता है कि प्योंगयांग परमाणु हथियारों के रास्ते पर कहीं अधिक तेजी से बढ़ रहा है।
अमेरिकी शोधार्थियों की हालिया रिपोर्ट में चेतावनी दी गई है कि उत्तर कोरिया अगले पांच साल में परमाणु हथियारों का प्रसार करने के लिए तैयार प्रतीत होता है और वर्ष 2020 तक उसके पास 100 परमाणु हथियार हो सकते हैं।

नाराज ग्राहकों को मनाने के लिए BSNL का फ्री कॉलिंग गिफ्ट

नई दिल्ली: सार्वजनिक क्षेत्र की भारत संचार निगम लिमिटेड (BSNL) ने अपने लैंडलाइन फोन कारोबार को गति देने के इरादे से रात के समय फिक्स्ड फोन से मोबाइल फोन सहित किसी भी दूरसंचार नेटवर्क पर असीमित संख्या में मुफ्त कॉल करने की सुविधा देने की आज घोषणा की। यह सुविधा 1 मई से लागू होगी।
इस योजना के तहत BSNL के फिक्स्ड लाइन से देश में कहीं भी मोबाइल फोन समेत किसी भी ऑपरेटर के नेटवर्क पर रात्रि में अनलिमिटेड निःशुल्क फोन कॉल किए जा सकते हैं। BSNL ने एक बयान में कहा कि योजना रात 9 बजे से सुबह सात बजे तक जारी रहेगी और इसमें सभी कनेक्शन शामिल होंगे।
कंपनी के अनुसार, ‘‘BSNL अपने लैंडलाइन फोन से सभी दूरसंचार सेवा प्रदाताओं के लैंडलाइन फोन तथा मोबाइल फोन पर एक मई से असीमित निःशुल्क फोन कॉल की सुविधा उपलब्ध करा रही है।’ योजना के तहत ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में सभी प्रमुख लैंडलाइन सामान्य योजना, लैंडलाइन विशेष योजना के साथ-साथ प्रमुख कॉम्बो (ब्रॉडबैंड के साथ लैंडलाइन) योजना इसमें शामिल हैं।’ 

कालेज छात्रा के साथ बदसलूकी, आरोपी बीएसएफ जवान

हावडा :  हावडा के जगाछा इलाके में एक कालेज छात्रा के साथ एक बीएसएफ जवान ने छेडछाड की। इस मामले में आरोपी जवान के खिलाफ जगाछा थाने में शिकायत दर्ज कराई गई है। घटना के बाद से आरोपी फरार है। प्राप्त खबरों के अनुसार बुधवार शाम को पीडित छात्रा अपने घर से दुकान जाने के लिये निकली थी। आरोपों के मुताबिक पीडिता के पडोस में रहने वाले बीएसएफ जवान धर्मेन्द्र गुप्त ने छात्रा को अकेला पाकर उसके साथ जबर्दस्ती करने की कोशिश की। इस दौरान कथित तौर पर छात्रा के साथ मारपीट भी की गई। छात्रा के परिजनो का कहना है कि विगत तीन-चार महीनो से आरोपी छात्रा को परेशान कर रहा था। उसने पीडिता को शादी का प्रस्ताव भी दिया था। घटना के बाद रात को ही आरोपी के खिलाफ थाने में शिकायत दर्ज कराई गई।

चिटफंड मामला : तृणमूल नेता के घर सीबीआई ने चलाया तलाशी अभियान

कोलकाता :  चिटफंड कंपनी रोजवैली से जुडे आर्थिक अनियमितता की जांच में जुटी सीबीआई ने एक तृणमूल नेता के घर की तलाशी ली। कोलकाता नगर निगम चुनाव में तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार तारक चटर्जी के घर में सीबीआई अधिकारियों ने तलाशी अभियान चलाया। तारक चटर्जी कोलकाता के २६ नंबर वार्ड से तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार हैं। सूत्रों के अनुसार रोजवैली मामले में सीबीआई को अनिल सामंत नामक एक शख्स की तलाश है। अनिल सामंत तारक चटर्जी के घर में किरायेदार के तौर पर रहता था। सीबीआई ने उसी की खोज में तारक चटर्जी के घर की तलाशी ली। सीबीआई सूत्रों के अनुसार तलाशी अभियान के दौरान तारक चटर्जी के घर से कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेज बरामद हुए। दूसरी तरफ तारक चटर्जी का कहना है कि अनिल सामंत लगभग ३० साल पहले उनके घर में किरायेदार के तौर पर रहता था।