This is default featured slide 1 title

Yuvashakti — The Premier Hindi Daily.

This is default featured slide 2 title

Yuvashakti — The Premier Hindi Daily.

This is default featured slide 3 title

Yuvashakti — The Premier Hindi Daily.

This is default featured slide 4 title

Yuvashakti — The Premier Hindi Daily.

This is default featured slide 5 title

Yuvashakti — The Premier Hindi Daily.

Wednesday, April 20, 2016

राहुल गांधी ने ममता बनर्जी पर करारा हमला बोला


रघुनाथगंज। तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी की आलोचना करते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने आज कहा कि मुख्यमंत्री बनने के बाद उन्होंने अपने वादों को पूरा नहीं किया जिसके चलते विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को उनके खिलाफ लड़ना पड़ रहा है। एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘पांच वर्ष पूर्व कांग्रेस ने तृणमूल कांग्रेस का समर्थन किया था क्योंकि ममता जी ने परिवर्तन लाने, विकास की शुरुआत करने, युवाओं को रोजगार देने एवं कानून-व्यवस्था को बेहतर बनाने का वादा किया था।’’ उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन मुख्यमंत्री बनने के बाद ममता जी बदल गयीं और कांग्रेस एवं राज्य के लोगों से किये गये वादे भूल गयीं।’’
राहुल ने कहा, ‘‘ममता जी ने कारखानों की स्थापना और युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने का वादा किया था जो दूसरे राज्यों में जा रहे हैं लेकिन कोई कारखाना नहीं लगाया गया। इसलिए हम लोग उनका समर्थन नहीं कर रहे। हम लोग उनको हराने के लिए लड़ रहे हैं।’’ इसके बाद उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा।
कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘मेक इन इंडिया’ का नारा दिया और कहा कि युवाओं को रोजगार मिलेगा। उन्होंने कहा, ‘‘लोगों ने उन्हें चुना लेकिन किसी युवा को रोजगार नहीं मिला। ममता जी ने भी 70 लाख लोगों को रोजगार देने का वादा किया लेकिन कुछ भी नहीं हुआ।’’ राहुल ने भीड़ से पूछा, ‘‘क्या किसी एक व्यक्ति को भी रोजगार मिला है?’’ उन्होंने आरोप लगाया कि मोदी और ममता ने किसानों के लिए कुछ भी नहीं किया। कांग्रेस-वाम गठबंधन का हवाला देकर उन्होंने कहा, ‘‘चुनाव के बाद जब हमारे गठबंधन की सरकार सत्ता में आयेगी तो वह उन लोगों के खिलाफ कार्रवाई करेगी जो भ्रष्टाचार में लिप्त हैं, जो सारदा घोटाले में शामिल हैं। सरकार लोगों को रोजगार भी देगी और बीड़ी श्रमिकों की मदद भी करेगी।’’

दिल्ली देखेगी बंगाल की ताकत : ममता


कोलकाता। भाजपा, कांग्रेस और वाम मोर्चा के केंद्रीय नेताओं के शब्दवाणों से आहत तृणमूल सुप्रीमो व पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने 19 मई के बाद दिल्ली को बंगाल की ताकत का अहसास कराने की चेतावनी दी है। मंगलवार को हावड़ा जिले के जगतबल्लभपुर और सांकराइल में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने केंद्र और राज्य की पिछली वाम मार्चा सरकार की कड़ी आलोचना की। भाजपा नेतृत्व वाली मोदी सरकार पर बदले की भावना और ब्लैकमेलिंग राजनीति करने का आरोप लगाया।

उन्होंने कहा कि आर्थिक सहयोग के नाम पर केवल झूठे आश्वासन देने वाली केंद्र सरकार अब पश्चिम बंगाल सरकार के खिलाफ दुष्प्रचार कर रही है। मुख्यमंत्री ने चुनाव आयोग पर एक बार फिर केंद्र सरकार के इशारे पर काम करने का आरोप लगाया। दो माह तक सात चरण में मतदान कराए जाने पर अंगुली उठाने हुए ममता ने कहा कि ऐसा चुनावी तरीका आज से पहले कभी नहीं देखा।

उन्होंने कहा कि कई राज्यों में एक-दो चरण में चुनाव कराए गए, लेकिन शांत पश्चिम बंगाल में सात चरण में मतदान हो रहा है। मुख्यमंत्री ने तृणमूल को हराने के लिए वाम मोर्चा और कांग्र्रेस के बीच सहयोग पर एक बार फिर कटाक्ष किया। उन्होंने कहा कि बिहार, केरल, तमिलनाडु आदि राज्यों में एक दूसरे के खिलाफ लड़ रही माकपा और कांग्र्रेस पश्चिम बंगाल में मिलकर चुनाव लड़ रहे हैं। कांग्र्रेस के कंधे पर वाम मोर्चे का लाल झंडा देखने को मिल रहा है।

Tuesday, March 15, 2016

बागी में बिकिनी पहनना रहा मजेदार : श्रद्धा कपूर

मुंबई : बॉलीवुड में अपने छोटे से करियर में बड़ी कामयाबी का स्वाद चखने वाली अदाकारा श्रद्धा कपूर अपनी आने वाली फिल्म‘बागी’में नये तेवर में नजर आएंगी। श्रद्धा पहली बार परदे पर बिकिनी कास्टयूम में सामने आ रही है। 
मंगलवार  शाम फिल्म‘बागी’का ट्रेलर लॉन्च किया गया जिसमें श्रद्धा का यह नया अवतार सामने आया। श्रद्धा ने कहा यह पहली बार है जब मैं किसी फिल्म में बिकिनी में नजर आउंगी। मेरे लिये यह अनुभव मजेदार रहा। उम्मीद है कि मेरा नया लुक सबको पसंद आया होगा।
‘बागी’में श्रद्धा बी-टाउन के नए हार्टथ्रोब टाइगर श्रॉफ के साथ नजर आएंगी। श्रद्धा ने कहा कि वह बचपन से ही टाइगर की प्रशंसक रही है। उन्होंने कहा टाइगर और मैं बचपन के दोस्त हैं। मैं बचपन से ही टाइगर की प्रशंसक हूं।
बास्केटबॉल के खेल में उनके कौशल और जुनून के लिए मैं उन्हें पसंद करती हूं। वह एक विद्रोही भी है लेकिन सकारात्मक तरीके के विद्रोही। बैटमैन या सुपरमैन के बजाय मैं टाइगर श्रॉफ का पक्ष लूंगी। फिल्म के बारे में बात करते हुए श्रद्धा ने कहा कि विद्रोही की प्रेम कहानी वाली इस फिल्म में एक्शन ²श्यों की शूभटग करना मुश्किल भरा काम रहा। 

Saturday, March 12, 2016

आईएमएफ में कोटा संबंधी और सुधार जरूरी: प्रधानमंत्री



नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) में कोटा संबंधी और सुधार किये जाने की वकालत की ताकि वह वैश्विक आर्थिक वास्तविकताओं को प्रदर्शित कर सके, साथ ही बहुस्तरीय निकाय के कामकाज में भारत और अन्य उभरती हुई बड़ी अर्थव्यवस्थाओं की भूमिका को बढ़ाये। मोदी ने कहा कि 2010 में आईएमएफ में कोटा संशोधन के बारे में बनी सहमति लम्बे समय से लंबित थी और यह अंतत: प्रभाव में आ गई है लेकिन इसके बाद भी आईएमएफ कोटा वैश्विक आर्थिक वास्तविकताओं को प्रदर्शित नहीं करता है।
‘आगे बढ़ता एशिया’ विषय पर आईएमएफ और भारत द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित सम्मेलन को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, ''कोटा में बदलाव कुछ देशों की ‘ताकत’ को बढ़ाने से जुड़ा विषय नहीं है। यह निष्पक्षता और वैधता का विषय है। यह मानना कि कोटा का स्वरूप बदला जा सकता है, यह प्रणाली में निष्पक्षता के लिए जरूरी है।’’ उन्होंने कहा कि ऐसी संस्थाओं की वैधता को गरीब देशों का सम्मान प्राप्त करने के लिए, उन्हें उम्मीद बनाये रखने में सक्षम होना होगा।
प्रधानमंत्री ने कहा, ''और इसलिए मैं खुश हूं कि आईएमएफ ने अक्तूबर 2017 तक कोटा में सुधार के अगले दौर को अंतिम रूप देने का निर्णय किया है।’’ मोदी ने कहा कि जनवरी में लागू आईएमएफ कोटा सुधार से यह प्रदर्शित हुआ है कि विश्व अर्थव्यवस्था में उभरती हुई अर्थव्यवस्थाओं को अधिक तवज्जो मिली है। उन्होंने कहा, ''इससे उभरती हुई अर्थव्यवस्थाओं को आईएमएफ के सामूहिक निर्णयों में अपनी आवाज उठाने का ज्यादा अधिकार मिल सकेगा।’’ प्रधानमंत्री ने 2010 में किये गए निर्णयों का अनुमोदन करने के लिए सभी सदस्य देशों को तैयार करने में आईएमएफ की प्रबंध निदेशक क्रिस्टीन लागार्दे द्वारा निभाई गई भूमिका की सराहना की।
प्रधानमंत्री ने उम्मीद जाहिर कि आईएमएफ अपनी सफलताओं को और आगे बढ़ायेगा। उन्होंने कहा, ''वैश्विक संस्थाओं में सुधार एक सतत प्रक्रिया है। और जरूरी है कि यह वैश्विक अर्थव्यवस्था में बदलाव और उभरती हुई अर्थव्यवस्थाओं की बढ़ती हिस्सेदारी को प्रदर्शित करे।’’ उल्लेखनीय है कि आईएमएफ ने जनवरी में बहुप्रतीक्षित कोटा सुधार लागू करने की घोषणा की थी जिससे भारत और चीन जैसी उभरती हुई अर्थव्यवस्थाओं को अधिक मतदान अधिकार मिल सकेगा। आईएमएफ में भारत का कोटा 2.44 प्रतिशत से बढ़कर 2.7 प्रतिशत हो गया जबकि उसकी वोटिंग हिस्सेदारी 2.34 प्रतिशत से बढ़कर 2.6 प्रतिशत हो गई है। पहली बार आईएमएफ के 10 बड़े सदस्यों में उभरती हुई अर्थव्यवस्थाओं के समूह ब्रिक्स के चार देश- ब्राजील, चीन, भारत और रूस शामिल हुए हैं। इन 10 सबसे बड़े सदस्यों में अन्य देश- अमेरिका जापान, फ्रांस, जर्मनी, इटली और ब्रिटेन हैं।

मोदी ने कहा कि भारत का बहु स्तरीय व्यवस्था में हमेशा से काफी विश्वास रहा है। ''हमारा मानना है कि जैसे जैसे दुनिया अधिक जटिल होती जायेगी, बहु स्तरीय संस्थाओं की भूमिका बढ़ेगी।’’ आईएमए का जन्म 1944 में ब्रिटन वुड्स कांफ्रेंस में हुआ था और तब इसमें आरके शणमुगम चेट्टी भारत के प्रतिनिधि के रूप में शामिल हुए थे, जो स्वतंत्र भारत के पहले वित्त मंत्री बने। प्रधानमंत्री ने कहा, ''हमारा संबंध 70 वर्ष से भी अधिक पुराना है। हम एशियाई आधारभूत ढांचा निवेश बैंक और न्यू डेवेलपमेंट बैंक के संस्थापक सदस्य रहे हैं। हमें विश्वास है कि ये बैंक एशिया के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभायेंगे।’’ उन्होंने कहा कि आईएमएफ में बहुत अधिक संख्या में आर्थिक विशेषज्ञ हैं। उन्होंने कहा कि कोष सलाह देने के अलावा उनकी नीतियों के निर्माण की क्षमता तैयार करने में भी मददगार हो सकता है। मोदी ने बांग्लादेश, भूटान, नेपाल, मालदीव, श्रीलंका, भारत के साथ आईएमएफ के एक नये गठजोड़ की घोषणा की जो दक्षिण एशिया क्षेत्रीय प्रशिक्षण एचं तकनीकी सहायता केंद्र स्थापित करने से संबंधित है। यह केंद्र सरकारी और सार्वजनिक क्षेत्र के कर्मचारियों को प्रशिक्षण मुहैया कराएगा और उनकी कुशलता के विकास तथा उनके नीति संबंधी सलाहों के स्तर में सुधार करेगा। इसके साथ ही यह सरकारों और सार्वजनिक संस्थानों को तकनीकी मदद भी मुहैया कराएगा।

Tuesday, February 16, 2016

इशरत को मैंने नहीं कहा था बिहार की बेटी: नीतीश


पटना : मुख्यमंत्री ने कहा है कि गुजरात में पुलिस एनकाउंटर में मारी गई इशरत जहां को मैंने बिहार की बेटी कभी नहीं कहा था। मेरे मुंह में डाल कर जिस किसी ने भी यह बात कही, उस पर कानूनी कार्रवाई होगी। इसकी पूरी तैयारी चल रही है। जिसने भी यह बात कही कि मैंने ऐसा कहा था, उसको हम ऐसे ही नहीं छोड़ देंगे। मैंने पूरा रिसर्च कर लिया है। किस-किस ने क्या कहा, इसकी पूरी रिपोर्ट है मेरे पास।

अफजल के समर्थक विधायक से क्यों मिले भाजपा नेता : मुख्यमंत्री ने कहा कि संसद पर हमला करने के दोषी अफजुल गुरु के समर्थक विधायक से भाजपा नेता राम माधव जम्मू-कश्मीर में क्यों मिले। राम माधव पर क्यों नहीं कार्रवाई हुई। जवाब दे भाजपा।  

देश को बांट रही है भाजपा : मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा देश को बांट रही है। केंद्र सरकार बिना इमरजेंसी लगाए, वह सब काम कर रही है, जो लोकतंत्र के खिलाफ है। जनता सब देख रही है। जो उनका रवैया है, यह देश 2019 में उन्हें सत्ता से बाहर कर देगा। मेरे जीतने पर पाकिस्तान में पटाखा फूटने की बात भाजपा के नेताओं ने चुनाव में कहा था, लेकिन पटाखा तो फूटा पूरे हिन्दुस्तान में।

जेएनयू विवाद: केंद्र और विपक्ष के बीच जंग तेज


नई दिल्ली : जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के मामले पर सोमवार को कांग्रेस और भाजपा के बीच जमकर शब्दबाण चले। उधर, दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में कुछ पत्रकारों और जेएनयू के छात्रों पर वकीलों के एक गुट ने हमला किया।

भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह ने अपने ब्लॉग में लिखा है कि कोई भी नागरिक आतंकवादी की पक्षधरता और देश के प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय में राष्ट्र विरोधी नारों को कबूल नहीं सकता। शाह ने लिखा, ‘‘लेकिन, राहुल गांधी और उनकी पार्टी के सहयोगियों ने परिसर में जिस तरह के बयान दिए, उससे साफ है कि इनकी सोच में राष्ट्रहित नहीं है।’’

शाह ने सवाल उठाया कि क्या कांग्रेस नेता ने अपना समर्थन अलगाववादियों को दे दिया है?

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के रुख की अमित शाह द्वारा की गई आलोचना पर कांग्रेस ने कड़ी प्रतिक्रिया दी। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘जिन्होंने महात्मा गांधी की विचारधारा की हत्या की और जो नाथूराम गोडसे की विचारधारा के वारिस हैं, उन्हें कांग्रेस और देश को देशभक्ति की नई परिभाषा पढ़ाने की जरूरत नहीं है।’’

उन्होंने कहा कि कांग्रेस का इतिहास आतंकवाद से लड़ाई का रहा है। पार्टी नेताओं ने देश की एकता और अखंडता के लिए जान की कुर्बानियां दी हैं। कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि जिस किसी ने भी जेएनयू में गलत हरकत की है, उसे सजा मिलनी चाहिए। लेकिन, ‘‘यह बिल्कुल भी सही नहीं है कि मोदी सरकार के खिलाफ आवाज उठाने वाला राष्ट्र विरोधी है।’’

सुरजेवाला ने कहा, ‘‘देश में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता है। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी का यही विचार है।’’

जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार की गिरफ्तारी के बाद से जेएनयू में तनाव बना हुआ है। नौ फरवरी की रात संसद हमले के दोषी अफजल गुरु और जम्मू एवं कश्मीर लिबरेशन फ्रंट के सह संस्थापक मकबूल बट को दी गई फांसी की बरसी पर जेएनयू में एक कार्यक्रम आयोजित हुआ था। कहा जा रहा है कि कार्यक्रम में देश विरोधी नारे लगाए गए थे।

दिल्ली पुलिस ने गुरुवार को देशद्रोह का मामला दर्ज कर कन्हैया कुमार को गिरफ्तार कर लिया। कुमार ने देश विरोधी नारे लगाने से इनकार किया है। कुमार का संबंध भाकपा के छात्र संगठन एआईएसएफ से है। दिल्ली के पुलिस आयुक्त बी.एस. बस्सी ने सोमवार को कहा कि कन्हैया कुमार उस मीटिंग में थे जिसमें देश विरोधी नारे लगे थे और कुमार ने खुद देश विरोधी नारे लगाए थे।

कुमार की गिरफ्तारी का विपक्ष द्वारा विरोध जारी है। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटना में कहा कि केंद्र सरकार ने कुमार को फंसाया है। माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के नेता प्रकाश करात ने सोमवार को केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह को यह कहने पर आड़े हाथों लिया कि जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में अफजल गुरु पर हुए कार्यक्रम को पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के मुखिया हाफिज सईद का समर्थन हासिल था।

जेएनयू में करात ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘गृहमंत्री सूचनाओं के लिए फर्जी ट्विटर हैंडल पर भरोसा करते हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हम उनकी (केंद्र सरकार-भाजपा) राष्ट्रवाद की परिभाषा को नहीं मानते हैं। अगर वे हमें राष्ट्रविरोधी कहते हैं तो हम इसे सम्मान के बिल्ले की तरह पहनेंगे।’’

दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में कन्हैया कुमार की पेशी को कवर करने गए कुछ पत्रकारों पर वकीलों के एक गुट ने हमला किया।

आईएएनएस संवाददाता अमिय कुमार कुशवाहा पर अदालत कक्ष के अंदर हमला किया गया, जबकि कुछ अन्य पत्रकारों पर अदालत परिसर में वकीलों के एक गुट ने हमला किया। हमला करने वाला वकीलों का दल भारत माता की जय के नारे लगा रहा था।

इंडियन एक्सप्रेस के संवाददाता आलोक सिंह ने बताया कि अदालत कक्ष के बाहर कुछ पत्रकार खड़े थे। तभी कुछ वकीलों ने जेएनयू के छात्रों पर हमला बोल दिया और वे उन्हें जबरदस्ती अदालत कक्ष से बाहर ले जाने लगे।

उन्होंने कहा, ‘‘जब मैं अपने मुख्य संवाददाता को इस घटना की जानकारी दे रहा था, तभी उन्होंने मुझपर हमला बोल दिया। मैं उन्हें बार-बार कह रहा था कि मैं एक पत्रकार हूं और मेरा काम घटना की खबर देना है, लेकिन वे लगातार मुझ पर लात-घूंसे बरसा रहे थे। उन्होंने मेरा मोबाइल छीन कर तोड़ दिया।’’

जिन अन्य पत्रकारों पर हमला किया गया, उनमें आईबीएन7 के अमित पांडे और कैराली टीवी के मनु शंकर भी शामिल हैं।

पत्रकारों ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के दिल्ली के विधायक ओ.पी. शर्मा अदालत कक्ष के बाहर जेएनयू के एक छात्र को दौड़ा रहे थे और उसकी पिटाई कर रहे थे।

इस घटना की शुरुआत तब हुई, जब अदालत कक्ष में वकीलों के एक दल ने नारेबाजी की। उन्होंने भारत माता की जय के नारे लगाते हुए जेएनयू छात्रों और पत्रकारों को कक्ष से बाहर जाने को कहा। हालांकि बाहर क्यों जाने को कहा, इसका उन्होंने कोई कारण नहीं बताया।

जेएनयू के कुछ छात्रों ने बताया कि वे भारत माता की जय और जेएनयू को बंद करो के नारे लगा रहे थे। खास बात यह कि राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के मध्य में स्थित अदालत कक्ष और परिसर में भारी पुलिस बल की मौजूदगी के बावजूद यह हिंसक घटना हुई।

Friday, February 12, 2016

हेडली के खुलासों ने पाक की सच्चाई सामने ला दी: राजनाथ


नई दिल्ली : केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि डेविड हेडली के खुलासों के बाद पाकिस्तान का पर्दाफाश हो गया है। हालांकि उन्होंने साफ किया कि भारत उस देश के साथ सौहार्दपूर्ण रिश्ते बनाकर रखना चाहता है।

सिंह ने यहां हवाईअड्डे पर संवाददाताओं से कहा कि डेविड हेडली की गवाही से पाकिस्तान का पर्दाफाश हो गया है लेकिन हम फिर भी पाकिस्तान के साथ सौहार्दपूर्ण रिश्ते बनाकर रखना चाहते हैं। गृहमंत्री ने लांसनायक हनुमनथप्पा के निधन पर शोक प्रकट किया।
   
उन्होंने कहा कि मैं बहादुर सैनिक और सियाचिन में उसकी बहादुरी को सलाम करता हूं। मैं भगवान से उनके परिवार को दुख सहने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना करता हूं।

सिंह भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष कुम्मानन राजशेखरन की राज्यभर में निकाली गयी विमोचन यात्रा के समापन समारोह में शामिल होने यहां आये हैं।

पाकिस्तानी अमेरिकी आतंकवादी डेविड कोलमैन हेडली ने आज मुंबई की एक विशेष अदालत में कहा कि 2004 में गुजरात में कथित फर्जी मुठभेड़ में मारी गई इशरत जहां आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा की सदस्य थी।

लांसनायक हनुमनथप्पा का निधन, देश भर में शोक की लहर


नई दिल्ली : सियाचिन ग्लेशियर में हुए हिमस्खलन के बाद जीवित मिले एकमात्र जवान लांस नायक हनुमनथप्पा कोप्पड़ का गुरुवार को निधन हो गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि देश को आपके जैसे जाबांज शहीद पर गर्व है।

हनुमनथप्पा कोप्पड़ को दो दिन पहले गंभीर हालत में दिल्ली के आर्मी हॉस्पिटल (रिसर्च एंड रेफरल) में भर्ती कराया गया था।

एक अधिकारी ने बताया कि उन्होंने गुरुवार सुबह 11.45 बजे अंतिम सांस ली।

सेना के प्रवक्ता ने बताया कि जाबांज शहीद का अंतिम संस्कार कर्नाटक स्थित उनके गृहनगर में किया जाएगा। वे धारवाड़ जिले के बेटादूर गांव के रहने वाले थे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके निधन पर शोक जताते हुए ट्विटर पर लिखा, ‘वह हमें दुखी व तन्हा कर चले गए। लांस नायक हनुमनथप्पा की आत्मा को शांति मिले। जवान आप अमर हैं। गर्व है कि आप जैसे शहीदों ने भारत की सेवा की।’

लाखों देशवासी लांस नायक की सलामती की दुआएं मांग रहे थे लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका।

गुरुवार तड़के उनकी हालत और बिगड़ गई।

सुबह में चिकित्सकों ने कहा था कि उनकी हालत बेहद नाजुक है और कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया है।

कोप्पल की पत्नी समेत उनका परिवार अस्पताल परिसर में है। उनकी एक दो साल की बेटी भी है।

तीन फरवरी को सियाचिन ग्लेशियर में एक जबर्दस्त हिस्खलन हुआ था, जिसमें हनुमनथप्पा और नौ अन्य सैनिक लापता हो गए थे। सोमवार को करीब 35 फुट बर्फ के नीचे से हनुमनथप्पा जिंदा निकाले गए। वह तीन दिनों से कोमा में थे।

हनुमनथप्पा अपने 13 साल की सेवा में 10 साल दुर्गम व चुनौतीपूर्ण जगहों पर तैनात रहे। वह आतंकवाद रोधी अभियानों में भी सक्रिय रूप से शामिल रहे। वह अगस्त, 2०15 से सियाचिन ग्लेशियर के अति ऊंचाई वाले इलाकों में सेवा दे रहे थे।

Wednesday, February 10, 2016

पटना में भी दौड़ेगी मेट्रो ट्रेन, नीतीश कैबिनेट ने दी मंजूरी


पटना :  बिहार की राजधानी पटना में अब मेट्रो ट्रेन का सपना अगले पांच साल में साकार हो जाएगा। पटना मेट्रो परियोजना को बिहार मंत्रिपरिषद की मंगलवार को हुई बैठक में मंजूरी दी गई। इस परियोजना को वर्ष 2021 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में हुई मंत्रिपरिषद की बैठक में कुल 51 प्रस्तावों को मंजूरी दी गई। मंत्रिपरिषद विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि बैठक में पटना में मेट्रो रेल परियोजना को हरी झंडी मिल गई। इस परियोजना को 2021 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है।

इस परियोजना में कुल 16,960 करोड़ रुपये लागत का अनुमान रखा गया है। बिहार के नगर विकास मंत्री महेश्वर हजारी ने बताया कि मंत्रिपरिषद की मंजूरी मिलने के बाद नगर विकास और आवास विभाग मेट्रो परियोजना की विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) केंद्र सरकार को भेजी जाएगी। केंद्र सरकार की मंजूरी मिलने के बाद निविदा निकालकर निर्माण कंपनी का नाम तय किया जाएगा।

Tuesday, February 9, 2016

सियाचिन में 25 फुट मोटी बर्फ के नीचे भी छह दिन तक जिंदा रहा जवान


नई दिल्ली : सियाचिन में छह दिन पूर्व हिमस्खलन में बर्फ में 25 फुट नीचे दबे जवानों में से एक सोमवार को बचाव द्वारा आश्चर्यजनक रूप से जिंदा निकाल लिया गया। हालांकि जवान की हालत गंभीर है।

उत्तरी सैन्य कमान के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल डी.एस. हुडा ने कहा, ‘यह एक चमत्कार है। लांस नायक हनमन थापा को सैनिक अस्पताल में सुबह भर्ती कराया गया है। उसे बचाने के सभी प्रयास किए जा रहे हैं।’

उन्होंने आगे कहा, ‘अब तक पांच शव बरामद हुए हैं जिनमें से चार की पहचान की जा चुकी है। बाकी जवानों का हमें अब तक कोई पता नहीं चल पाया है।’

उन्होंने उम्मीद जताई कि कर्नाटक निवासी थापा की तरह ही अन्य जवान भी चमत्कारिक रूप से बच जाएंगे।

ज्ञातव्य है कि मद्रास रेजिमेंट के एक जेसीओ और नौ अन्य जवान पाकिस्तान से लगे नियंत्रण रेखा के पास करीब साढ़े 19000 फुट की ऊंचाई पर बर्फ में उस समय दब गए थे जब उनकी चौकी इस हिमस्खलन में तबाह हो गयी थी। उस समय यहां का तापमान शून्य से 45 डिग्री कम था।