रांची के हॉकी स्टेडियम का होगा व्यवसायीकरण, सवाल अब खिलाड़ी कहां करेंगे प्रैक्टिस

रेलवे का एस्ट्रोटर्फ हॉकी स्टेडियम जहां से अंतरास्ट्रीय स्तर की महिला हॉकी खिलाड़ी निकल रही है। जहां खिलाड़ी मैच का प्रैक्टिस कर हैं। अब उसी मैदान को भारत सरकार कमर्शियल हब में तब्दील करने की मंशा जाहिर की है। पूरे देश में 15 स्टेडियम और स्पोर्ट्स कंपलेक्स को चिन्हित किया गया है, जिसमें रांची, हटिया का एस्ट्रोटर्फ स्टेडियम को भी शामिल किया है।

अब सवाल यह उठता है, इसी मैदान से खिलाड़ी अंतरास्ट्रीय मैच की तैयारी करती हैं, नए खिलाड़ी उभर रहे हैं, वही मैदान रेलवे नियंत्रण क्षेत्र से बाहर हो जाएगा। रांची रेल मंडल से एक नहीं बल्कि दर्जन भर से अधिक खिलाड़ी हॉकी में अपनी पहचान बना चुकी है। हाल ही में टोक्यो ओलंपिक में महिला हॉकी टीम का शानदार प्रदर्शन रहा था जिसमें रांची रेल मंडल से निक्की प्रधान और सलीमा टेटे ने अगुवाई की थी। अंतरास्ट्रीय खिलाड़ी मे असुंता लकड़ा, निक्की प्रधान, सलीमा टेटे, अल्मा गुड़िया, सुभद्रा प्रधान, सहित कई बड़े चेहरे मंडल को पूरे देश मे पहचान दिलाई है। आज उसी मंडल का एकमात्र एस्ट्रोटर्फ मैदान का व्यवसायीकरण होगा।

अब इन मैदानों का खेल के साथ-साथ अन्य व्यवसायी कार्यो में में इस्तेमाल होगा। यानी खेल के अतिरिक्त अन्य कार्यक्रम मैदान में आयोजित होंगे। ऐसी परिस्थिति में अब खिलाडी कहां प्रैक्टिस करेंगे। कैसे अपने खेलों को सुधारेंगे। क्योंकि राष्ट्रीय और अंतरास्ट्रीय मैचों के लिए एस्ट्रोटर्फ मैदान की महत्ता ओर बढ़ जाती है।

झारखंड की बेटियों ने ओलंपिक में भारतीय महिला हॉकी टीम की ओर से अपने जलवा बिखेरा, तो रेलवे को भी अपने स्टेडियम की याद आने लगी। इसलिए एस्ट्रोटर्फ स्टेडियम का स्वरूप को बड़ा करने की तैयारी चल रही थी। जहां नेशनल गेम नियमित तौर पर हो। गैलरी में बैठने की क्षमता को दोगुना किया जाना है। इससे मैच प्रेमियों को सहूलित होगी । कमरों की संख्या दो से बढ़ाकर पांच किया जाएगा। वर्तमान में खिलाडियों के लिए दो-दो कमरों की ही सुविधा है। ऐसे में खिलाडिय़ों को ठहरने में परेशानी होती है। पर अब ऐसा नहीं होगा। पांच कमरों की संख्या होने पर पूरी टीम ठहर सकेंगी। कमरों की संख्या बढ़ी होगी, ताकि खिलाडियों को एक साथ ठहरने में कोई परेशानी न हो। इसे लेकर हाल ही में प्रधान वित्त सलाहकार सह दक्षिण पूर्व रेलवे संघ के अध्यक्ष प्रशांत कुमार मिश्रा एक दिवसीय दौरे पर आए थे। उन्होंने हटिया स्थित एस्ट्रोटर्फ हॉकी स्टेडियम का निरीक्षण किया था। स्टेडियम पर उपलब्ध खेल सुविधा एवं अन्य सुविधाओं को देखकर उन्होनें संतोष व्यक्त किया था।