गया के कलेक्‍ट्रेट में पहुंचा कोरोना, डीएम भी हुए संक्रमित,एक दिन पहले मिले थे सात पॉजिटिव मरीज

गया में कोरेाना संक्रमण की रफ्तार काफी तेज है। शहर से लेकर गांव तक कोरोना संक्रमित पाए जा रहे हैं। इस बीच खबर आ रही है कि जिलाधिकारी भी कोरोना की चपेट में आ गए हैं। वे आइसोलेशन में चले गए हैं। जिला स्‍वास्‍थ्‍य प्रबंधक निलेश कुमार  ने बताया कि शुक्रवार रात उनकी रिपोर्ट पॉजि‍टिव आई थी। इससे पहले शुक्रवार को कलेक्ट्रेट की विभिन्न शाखा में को कोविड-19 की सैंपल जांच की गई। इसमें सात कर्मी संक्रमित पाए गए थे। सभी को होम आइसोलेशन में रहने की सलाह दी गई है। कलेक्‍ट्रेट परिसर को सैनिटाइज किया जा रहा है।

एक दिन पहले मिले थे सात संक्रमित

बताया गया कि कोरोना जांच के लिए स्वास्थ्य विभाग की टीम जांच के लिए पहुंची थी। यहां जिला पंचायती राज, डाक शाखा समेत अलग-अलग दूसरे कार्यालय में कार्यरत कर्मियों का सैंपल लेकर जांच किया गया। बारी-बारी से करीब 104 कर्मियों की जांच हुई। उनमें से सात लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई। एक वरीय अधिकारी का चालक भी संक्रमित पाया गया। इसके अलावा कई दूसरे कर्मी संक्रमित मिले। लैब टेक्नीशियन इंद्रमोहन ने तत्काल संक्रमित मिले सभी कर्मियों को होम आइसोलेशन होने की सलाह दी। गौरतलब है कि कलेक्ट्रेट में काम कर रहे ज्यादातर कर्मी इसी गया शहर में रहते हैं। जहां इन दिनों सैकड़ों की संख्या में संक्रमित रोज मिल रहे हैं। दूसरी ओर, कलेक्ट्रेट में सरकार के निर्देशों का अनुपालन किए जाने की जरूरत है। जिसमें आधा कर्मी एक दिन और आधे कर्मी दूसरे दिन गैप करके काम का निपटारा करें। लेकिन ऐसा देखा जा रहा है कि कई कार्यालय में अधिक संख्या में कर्मी एक साथ काम कर रहे हैं। गौरतलब है कि एक दिन पहले गया में करीब छह सौ कोरोना संक्रमित मरीज मिले थे। यह पटना के बाद सर्वाधिक है। ऐसे में लेागों को अपने व्‍यवहार में परिवर्तन करने की जरूरत है। वरना स्थिति और खराब हो सकती है।