Bengal Chunav 2021: बंगाल में मतदान के बीच जारी हैं हिंसा, सत्सतामल में फायरिंग; दो पुलिसकर्मी घायल

बंगाल विधानसभा चुनाव के पहले चरण का मतदान ( First phase of Bengal Assembly Election)अभूतपूर्व सुरक्षा के बीच शनिवार सुबह 7 बजे से आरंभ हो चुका है। लेकिन राज्‍य में चुनावी हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही है। पश्चिम बंगाल में पहले चरण की वोटिंग के दौरान भगवानपुर विधानसभा क्षेत्र के सत्सतामल में गोलीबारी की घटना में 2 सुरक्षाकर्मी घायल हो गए। भाजपा जिला अध्यक्ष अनूप चक्रवर्ती के अनुसार टीएमसी से जुड़े लोग अरगोला पंचायत क्षेत्र में लोगों को आतंकित करने की कोशिश कर रहे हैं। इससे पहले  बांकुड़ा (Bankura) में रानी बांध विधानसभा क्षेत्र ( Rani Dam Assembly Constituency) के कुरकुटया स्कूल स्थित मतदान केंद्र पर तृणमूल कांग्रेस (TMC) और भाजपा (BJP) प्रत्याशी के बीच हल्की झड़प की खबरें सामने आयी हैं। बता दें कि शुक्रवार रात को भी पुरुलिया जिले के बंदवान में माओवादियों ने चुनाव कर्मियों के वाहनों  में आग लगा दी थी। 

मिली जानकारी के अनुसार ये वाहन पोलिंग बूथ पर चुनावकर्मियों को उतारकर वापस लौट रहा था कि रास्‍ते में ही दो माओवादियों ने रसायन छिड़क कर वाहन को फूंक दिया था। वाहन जब जा रहा था तभी दो माओवादियों ने वाहन में आग लगा दी थी। दोनों माओवादियों ने अपने चेहरे ढके हुए थे। पुलिस आरोपितों की तलाश में जुटी हुई है। ज्ञात हो कि बंदवान राज्‍य का माओवाद प्रभावित इलाका है।  

बंगाल विधानसभा चुनाव के पहले चरण का मतदान शनिवार सुबह 7 बजे से आरंभ हो चुका है। चुनाव के पहले चरण में आज सूबे के पांच जिलों बांकुड़ा, पुरुलिया, झारग्राम, पूर्व व पश्चिम मेदिनीपुर की 30 सीटों के लिए वोट डाले जा रहे हैं। कुल 191 उम्मीदवार चुनावी मैदान में अपनी किस्‍मत आजमा रहे हैं। कुल सीटों में से 11 अनुसूचित जाति/जनजाति के लिए सुरक्षित हैं। पहले चरण के 30 में से सात निर्वाचन क्षेत्रों को संवेदनशील घोषित किया गया है।

बता दें कि पिछले विधानसभा चुनावों में  इन 30 सीटों में से 27 पर तृणमूल कांग्रेस ने जीत हासिल की थी। जबकि कांग्रेस दो व आरएसपी मात्र एक सीट पर ही अपनी जीत दर्ज कर पायी थी। जबकि भाजपा पिछले विधानसभा चुनाव में इन सीटों पर खाता तक नहीं खोल पायी थी। गत लोकसभा चुनाव में इन जिलों में शानदार प्रदर्शन के कारण  भारतीय जनता पार्टी को काफी उम्‍मीदें हैं।