कृषि डीलरों के चौथे डिप्लोमा सत्र का शुभारम्भ

युवा शक्ति संवादाता 

------------------------

गया। कृषि प्रौद्योगिकी प्रबन्ध अभिकरण (आत्मा), द्वारा संयुक्त कृषि भवन,गया के सभाकक्ष में कृषि उपादान विक्रेताओं के डिप्लोमा कार्यक्रम के चौथे बैच का शुभारम्भ मंगलवार को किया गया।कार्यक्रम का उद्घाटन जिला कृषि पदाधिकारी, सुदामा महतों ने दीप प्रज्जवलित कर किया। उद्घाटन कार्यक्रम में उप निदेशक, भूमि संरक्षण, ई॰ बालेष्वर प्रसाद सिंह, परियोजना निदेशक, आत्मा रविन्द्र कुमार, कार्यक्रम के फेसिलिटेटर इन्द्रदेव पासवान, उप परियोजना निदेशक, आत्मा नीरज कुमार वर्मा, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन के जिला परामर्शी  सुदामा सिंह उपस्थित रहे। 

कृषि क्षेत्र में बीज, उर्वरक, कीट नाशक आदि बेचने वाले डीलरो के लिये केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय भारत सरकार के दिशा-निर्देश में राष्ट्रीय कृषि विस्तार प्रबंधन संस्थान (मैनेज) हैदराबाद द्वारा तैयार किये गये पाठ्यक्रम के अनुसार जिला के उत्पादन आपूर्तीकर्ताओ के लिये 48 सप्ताह के इस प्रशीक्षण को आयोजित किया जा रहा हैं। कृषि डीलरों को पैरा एक्सटेशन सेवा प्रदाता के रुप में विकसित करने के उद्देष्य से सरकार द्वारा उपादान आपूर्तीकर्ताओं के लाईसेन्स के नवीनीकरण के लिये देसी डिप्लोमा को अनिवार्य किया गया है।कार्यक्रम हेतु 40 (चालीस) उपादान आपूर्तीकर्ताओं ने ₹ 10000 का शुल्क जमा करके पंजीकरण कराया है।कोर्स की कुल फीस ₹ 20000 है जिसमें सरकार द्वारा पहले से डीलर का कार्य करने वालों को 50 प्रतिशत का अनुदान देकर प्रशिक्षित किया जा रहा है।

परियोजना निदेशक बाताया कि इस डिप्लोमा में 40 सप्ताह थियोरी एवं 08 सप्ताह प्रैक्टिकल प्रशिक्षण आयोजित किया जायेगा।प्रशिक्षण के बीच एवं अन्त में उपादान आपूर्तीकर्ताओं का मूल्यांकन भी किया जायेगा जो कुल 150 अंको का होगा, जिसमें कम से कम 40 प्रतिशत अंक प्राप्त करने पर ही उतीर्ण घोषित किया जायेगा।

ADVERTISEMENT