Future-RIL Deal: अमेजन की मध्यस्थता अपील पर फैसला कुछ ही दिनों में आने की उम्मीद, 24,713 करोड़ रुपये का है सौदा

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेज और फ्यूचर ग्रुप के 24,713 करोड़ रुपये के सौदे पर अमेजन द्वारा दायर की गई मध्यस्थता अपील पर कुछ दिनों में फैसला आ सकता है। सूत्रों के अनुसार, एक व्यक्ति वाली मध्यस्थता समिति ने अमेजन और फ्यूचर ग्रुप की दलीलों को पिछले हफ्ते सुना है और फैसला कुछ दिनों में आने की उम्मीद है।

यहां बता दें कि ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन ने फ्यूचर ग्रुप को कानूनी नोटिस जारी किया था। अमेजन ने आरोप लगाया था कि फ्यूचर ग्रुप ने अपनी 24,713 करोड़ रुपये की परिसंपत्तियां रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड को बेचकर ई-कॉमर्स कंपनी के साथ किये गए करार का उल्लंघन किया है।

अमेजन द्वारा फ्यूचर ग्रुप को कानूनी नोटिस जारी करने के बाद सिंगापुर अंतरराष्ट्रीय मध्यस्थता केंद्र में इस मामले पर 16 अक्टूबर को सुनवाई हुई थी। मामले से जुड़े सूत्र के अनुसार, अमेजन वर्सेज फ्यूचर वर्सेज रिलायंस के इस मध्यस्थता मामले में वीके राजाह ने सुनवाई की। वे पहले सिंगापुर के अटॉर्नी जनरल रह चुके हैं। सूत्र ने बताया कि इस मामले में राजाह आने वाले कुछ दिनों में अपना फैसला सुना सकते हैं।

हालांकि, अमेजन ने इस मामले पर कोई भी टिप्पणी करने से मना कर दिया है। फ्यूचर ग्रुप और रिलायंस इंडस्ट्रीज से भी ई-मेल के जरिए टिप्पणी मांगी गई, लेकिन उनका जवाब नहीं आया। गौरतलब है कि फ्यूचर ग्रुप और रिलायंस इंडस्ट्रीज के बीच इस 24,713 करोड़ रुपये के सौदे की घोषणा 29 अगस्त, 2020 को हुई थी।

इस सौदे के अनुसार, फ्यूचर ग्रुप ने अपने खुदरा, थोक और लॉजिस्टिक्स जैसे कारोबारों को रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड की खुदरा इकाई रिलायंस रिटेल वेंचर्स लिमिटेट (RRVL) बेचने की घोषणा की है।

वहीं, ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन ने पिछले साल फ्यूचर ग्रुप की कंपनी फ्यूचर कूपंस लिमिटेड में 49 फीसद हिस्सेदारी का अधिग्रहण किया था। साथ ही उसे 3 से 10 साल के दौरान फ्यूचर रिटेल के अधिग्रहण का अधिकार भी मिला था। बता दें कि फ्यूचर कूपंस के पास फ्यूचर रिटेल की 7.3 फीसद हिस्सेदारी है।


ADVERTISEMENT