JEE Main 2020: जेईई मेंस के अंतिम दिन रिकॉर्ड 25 फीसद छात्रों ने छोड़ी परीक्षा, धनबाद में कुल 899 छात्र थे पंजीकृत


JEE Main 2020 धनबाद में पिछले 5 दिनों से चल रही जेईई मेंस की परीक्षा शनिवार को शांतिपूर्ण संपन्न हो गई। हालांकि जेईई मेंस का आयोजन छह सितंबर तक होना है, लेकिन धनबाद के यह परीक्षा पांच तक ही निर्धारित थी। दोनों परीक्षा केंद्रों छात्रों की उपस्थिति शनिवार को 75.52 फीसदी रही। पांच में से दो तीन दिन तक मॉडरेट रहे रसायन का पेपर छात्रों को शनिवार को सबसे आसान लगा। गणित ने एक बार फिर से छात्रों को परेशान कर दिया। अभी तक रसायन के पेपर में 60 से 70 फीसद प्रश्न एनसीआरटी से पूछे जाते रहे हैं, लेकिन अंतिम दिन लगभग 80 फीसद प्रश्न एनसीआरटी से पूछे गए। गणित का पेपर छात्रों को लेंदी और मुश्किल भरा लगा।

बरवाअड्डा स्थित आइओन डिजीटल परीक्षा केंद्र से परीक्षा देकर निकले अधिकतर छात्रों ने कहा कि रसायन का पेपर काफी आसान था। भौतिक और गणित का पेपर मॉडरेट था। गणित थोड़ा लेंदी भी लगा। यहां से परीक्षा देकर निकले महोदा के रोशन, शुभि, बैंक मोड़ की रजनी, आयुषी ने बताया कि रसायन मैं ऑर्गेनिक केमिस्ट्री काफ़ी आसान था, इनऑर्गेनिक के प्रश्न भी बहुत मुश्किल नहीं थे। भौतिक में हीट के कुछ प्रश्न  मध्यम स्तर के थे। गणित में अलजेब्रा पोर्शन भी इसी तरह था। गणित थोड़ा लंबा खिंच गया। दोनों परीक्षा केंद्रों आइओन डिजीटल बरवाअड्डा और पर्थ डिजीटल जोन कुसुम विहार में कड़ी सुरक्षा एवं कोविड-19 मानकों के बीच परीक्षा हुई। दोनाें केंद्रों को मिलाकर छात्रों की उपस्थित लगभग 75.52 फीसदी रही।

दोनों केंद्रों को मिलाकर कुल 899 छात्र पंजीकृत थे। इसमें 679 उपस्थित और रिकॉर्ड 220 छात्र अनुपस्थित रहे। बरवाअड्डा सेंटर पर दोनों पालियों में 721 और कुसुम विहार सेंटर पर 178 छात्र पंजीकृत थे। बरवाअड्डा में प्रथम पाली में 361 छात्रों में 288 और द्वितीय पाली में 360 में 251 छात्र उपस्थित हुए। यहां कुल 721 छात्रों में 539 उपस्थित एवं 182 अनुपस्थित रहे। इसी तरह कुसुम विहार में प्रथम पाली में 89 में से 70 और द्वितीय पाली में 89 में से 70 छात्र उपस्थित हुए। यहां कुल 178 छात्रों में 140 उपस्थित एवं 38 अनुपस्थित रहे।

पांच दिन में 20 फीसद छात्रों ने छोड़ परीक्षा : धनबाद में पांच दिनों तक चले जेईई मेंन की परीक्षा के दौरान कोई दिन ऐसा नहीं जा रहा है, जिसमें 100 से ज्यादा छात्र अनुपस्थित न रहे हों। बीई-बीटेक के शनिवार के पेपर में भी रिकॉर्ड 220 छात्रों ने परीक्षा छोड़ दी। इससे पहले शुक्रवार को 123, गुरुवार को 106, बुधवार को 117 और मंगलवार को 168 छात्र अनुपस्थित थे। बीआर्क के पेपर में भी कुछ छात्रों ने परीक्षा छोड़ दी थी। बता दें कि धनबाद के दो परीक्षा केंद्रों पर करीब 43 सौ छात्र पंजीकृत थे, जिसमें से 3462 छात्रों ने परीक्षा दिया और करीब 20 फीसद छात्रो ने परीक्षा छोड़ दिया। 

बारिश में भीगते रहे छात्र और अभिभावक : शनिवार को प्रथम पाली की परीक्षा दोपहर 12 बजे खत्म हुई। जैसे छात्र दोनों परीक्षा केंद्रों से निकले बारिश शुरू हो गई। बाहर कोई व्यवस्था न होने की वजह से छात्र और अभिभावक भीगते हुए अपने-अपने घर रवाना हुए। इस दौरान एनएसयूआइ ने अपने स्टाल में छात्रों एवं अभिभावकों के रुकने की व्यवस्था की। इस दौरान सभी को खाने की सामग्री भी दी गई। मौके पर एनएसयूआइ के प्रदेश अध्यक्ष आमिर हाशमी, जिलाध्यक्ष कुमार अभिनव, प्रदेश महासचिव शिवम सिंह, गोपाल कृष्ण, आकाश शर्मा, प्रेम सिंह मौजूद थे।

बारिश में भीगते रहे छात्र और अभिभावक : शनिवार को प्रथम पाली की परीक्षा दोपहर 12 बजे खत्म हुई। जैसे छात्र दोनों परीक्षा केंद्रों से निकले बारिश शुरू हो गई। बाहर कोई व्यवस्था न होने की वजह से छात्र और अभिभावक भीगते हुए अपने-अपने घर रवाना हुए। इस दौरान एनएसयूआइ ने अपने स्टाल में छात्रों एवं अभिभावकों के रुकने की व्यवस्था की। इस दौरान सभी को खाने की सामग्री भी दी गई। मौके पर एनएसयूआइ के प्रदेश अध्यक्ष आमिर हाशमी, जिलाध्यक्ष कुमार अभिनव, प्रदेश महासचिव शिवम सिंह, गोपाल कृष्ण, आकाश शर्मा, प्रेम सिंह मौजूद थे।

ADVERTISEMENT