ऑनलाइन फार्मेसी में टक्कर देगी रिलायंस, नेटमेड्स में निवेश, ईशी अंबानी ने कही ये बात


रिलायंस इंडस्ट्रीज ने ऑनलाइन फार्मेसी कंपनी नेटमेड्स में 620 करोड़ रुपये का निवेश किया है. रिलायंस ने विटालिक हेल्थ और उसकी सब्सिडियरी कंपनियों में करीब 60 फीसदी हिस्सेदारी ली है जिन्हें सामूहिक रूप से नेटमेड्स के रूप में जाना जाता है.

होगी जबरदस्त प्रतिस्पर्धा

इससे देश के ऑनलाइन फार्मेसी कारोबार में जबरदस्त प्रतिस्पर्धा शुरू होने वाली है, जहां ऐमजॉन प्रवेश कर चुका है और फ्लिपकार्ट भी इसमें उतरने का मन बना रहा है.

करार के मुताबिक रिलायंस ने विटालिक में 60 फीसदी इक्विटी होल्डिंग ली है, जबकि इसकी सब्सिडियरी ट्रेसरा हेल्थ, नेटमेड्स मार्केट प्लेस और Dadha फार्मा डिस्ट्रिब्यूशन में उसे 100 फीसदी हिस्सेदारी मिलेगी.

विटालिक की स्थापना 2015 में हुई थी और उसकी सहायक कंपनियां फार्मा डिस्ट्रीब्यूशन, बिक्री और बिजनेस सपोर्ट सर्विस में हैं. इसकी सब्सिडियरी के द्वारा ऑनलाइन फार्मेसी कारोबार नेटमेड्स के नाम से संचालित किया जाता है. जो ग्राहकों को फार्मासिस्ट से जोड़ती है और सीधे उनके घर तक दवाएं, न्यूट्रीशनल और वेलनेस उत्पाद पहुंचाती है.

क्या कहा रिलायंस ने

रिलायंस की रिटेल डायरेक्टर ईशा अंबानी ने एक बयान में कहा, 'यह निवेश हमारी उस प्रतिबद्धता के अनुरूप ही है जिसमें हमने भारत में हर व्यक्ति तक डिजिटल पहुंच की बात की है. नेटमेड्स के जुड़ने से रिलायंस रिटेल अच्छी गुणवत्ता के और किफायती हेल्थकेयर उत्पाद एवं सेवाएं उपलब्ध करा पाएगी. नेटमेड्स ने जिस तरह से बहुत कम समय में देशव्यापी डिजिअल फ्रेंचाइजी विकसित की है उससे हम प्रभावित हुए हैं.'

क्या करती है नेटमेड्स

नेटमेड्स एक ई-फार्मा पोर्टल है जिसके द्वारा प्रिस्क्रिप्शन आधारित और ओवर-द-काउंटर दवाएं और अन्य हेल्थ उत्पादों की बिक्री की जाती है. इसकी सेवाएं देश के करीब 20,000 स्थानों में उपलब्ध हैं. इसकी प्रमोटर चेन्नई आधारित कंपनी Dadha Pharma है.

गौरतलब है कि पिछले हफ्ते ही दिग्गज बहुराष्ट्रीय ई-कॉमर्स कंपनी एमेजॉन ने भी ऑनलाइन फार्मेसी कारोबार में कदम रखा है. कंपनी ने बेंगलुरु से ई-फार्मेसी सेवा शुरू की है.

ADVERTISEMENT