West Bengal: राज्यपाल 15 जुलाई को सभी विश्वविद्यालयों के वाइस चांसलरों के साथ करेंगे वर्चुअल कॉन्फ्रेंस


बंगाल सरकार और राजभवन के बीच एक बार फिर तनातनी बढ़ने के आसार हैं। राज्य सरकार की आपत्ति के बावजूद राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने 15 जुलाई को राज्य के सभी विश्वविद्यालयों के वाइस चांसलरों व प्रो वाइस चांसलरों के साथ वर्चुअल कॉन्फ्रेंस करने का फैसला किया है। इस बाबत राज्यपाल ने मंगलवार को सभी वाइस चांसलरों को पत्र लिखकर सूचित किया है।

धनखड़ ने इसमें कहा है कि राज्यपाल और कुलाधिपति के रूप में छात्रों के मुद्दे मेरे लिए सर्वोच्च प्राथमिकता है। कोविड-19 ने हमारे छात्रों सहित सभी के लिए संकट व चिंताओं को बढ़ाया है। समय-समय पर कई मुद्दों पर चिंतित छात्रों द्वारा इसके हल के लिए मुझसे अपील की गई है और मीडिया और सोशल मीडिया दोनों में भी यह दर्शाया गया है।

उन्होंने कहा कि छात्रों के समग्र हितों व आगे के विकल्पों पर चर्चा के लिए वे 15 जुलाई को सुबह 11 बजे से सभी वाइस चांसलरों एवं प्रो वाइस चांसलरों के साथ वर्चुअल कॉन्फ्रेंस करेंगे। गौरतलब है कि करीब 3 हफ्ते पहले राज्यपाल ने राज्य के शिक्षा विभाग को सभी वाइस चांसलरों के साथ वर्चुअल कॉन्फ्रेंस आयोजित करने की व्यवस्था करने का निर्देश दिया था। लेकिन राज्य सरकार ने उनके अनुरोध को ठुकरा दिया था।

शिक्षा विभाग ने राजभवन से साफ कहा था कि राज्यपाल व कुलपतियों के बीच वर्चुअल कांफ्रेंस के माध्यम से बैठक करने का कोई नियम नहीं है। इसलिए इसकी व्यवस्था नहीं की जा सकती। अब राज्यपाल ने राज्य सरकार के एतराज को दरकिनार करते हुए वर्चुअल कॉन्फ्रेंस करने की घोषणा की है। 

ADVERTISEMENT