बिहार में भारी बारिश-वज्रपात का अलर्ट, उफना रहीं नदियों ने बढ़ायी चिन्ता


बिहार में अभी मानसून पूरी तरह से सक्रिय है और राज्य के ज्यादातर हिस्सों में रूक-रूककर बारिश हो रही है। वहीं बारिश की वजह से कई नदियों का जलस्तर बढ़ता जा रहा है, जिससे बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है। वहीं,मौसम विभाग ने बारिश और वज्रपात का पूरे राज्य में अलर्ट जारी किया है। विभाग ने सोमवार को भी कई जिलों में भारी बारिश और वज्रपात की संभावना जतायी है।सुपौल, चंपारण के जिले, मधुबनी, सीतामढ़ी आदि क्षेत्रों में बिजली गिरने की आशंका भी व्यक्त की गयी है। मौसम विभाग ने अलर्ट जारी करते हुए बताया है कि इन इलाकों में गरज के साथ तेज बारिश और आकाशीय बिजली गिरने की संभावना है।

पटना समेत कई हिस्सो में 15 व 16 को तेज बारिश का अलर्ट

इन दिनों पूरे प्रदेश में हल्की व तेज बारिश हो रही है। रविवार को उत्तरी व पूर्वी बिहार के अधिकतर हिस्सों में भारी बारिश हुई। राजधानी पटना की बात करें तो यहां रविवार को पूरे दिन बादल छाये रहे। वहीं, शाम में अचानक मौसम का मिजाज बदलते ही झमाझम बारिश हु्ई। मौसम विज्ञान केंद्र की मानें, तो राजधानी सहित पूरे प्रदेश में सोमवार को भी बादल छाया रहेगा और हल्की व तेज बारिश भी होगी। राजधानी व आसपास के इलाकों में 15 व 16 जुलाई को तेज बारिश की संभावना बनी हुई है।

बिहार में नदियों में उफान, दहशत में हैं तटीय इलाके के लोग

दो दिनों से लगातार हो रही बारिश के कारण कई नदियों में जल स्तर में काफी वृद्धि होने के कारण निचले क्षेत्रों में बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है। इन इलाकों में नदियों का पानी फैलने लगा है और इसके साथ ही तटबंधों पर पानी का दबाव बढ़ता जा रहा है, जिससे तटीय इलाके के लोग भयभीत हैं। वहीं, मौसम विभाग  के अनुसार अति से अत्यधिक वर्षा की चेतावनी से लोग पहले से ही भयभीत हैं। पिछले दो दिनों से हो रही वर्षा ने लोगों की परेशानी बढ़ा दी है। हालांकि सरकार की तरफ से तटबंधों पर लगातार निगरानी रखी जा रही है।

खतरे के निशान से ऊपर बह रही कई नदियां

बिहार में बागमती, ललबेकिया, कमला नदियों का जलस्तर लगातार खतरे के निशान से ऊपर चल रहा है। इसके साथ ही अन्य नदियों का जलस्तर भी बढ़ रहा है।

ADVERTISEMENT