इस साल नहीं होगी कांवड़ यात्रा, तीन राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने लिया फैसला


देश में कोरोना के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है. कोरोना की स्थिति को देखते हुए फिलहाल कांवड़ा यात्रा भी स्थगित कर दी गई है. ये फैसला उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लिया है. योगी आदित्यनाथ ने हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर और उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग पर बात की थी.

तीनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने संयुक्त मीटिंग में फिलहाल कांवड़ यात्रा स्थगित करने का निर्णय किया है. ऐसे में इस साल कांवड़ यात्रा नहीं होगी. धार्मिक गुरुओं और कांवड़ संस्थाओं ने भी कांवड़ यात्रा नहीं करने के बारे में कहा था, अब ये निर्णय ले लिया गया है.

कांवड़ियों की संख्या ज्यादा होती है और सरकार को उनकी पैदल यात्रा के लिए भारी इंतजाम करना पड़ता है. कांवड़ियों के रास्ते में जगह-जगह विश्रामशालाएं लोग बनाते हैं और उन्हें खिलाते हैं. बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच अगर कांवड़ यात्रा को इजाजत दी जाती तो कोरोना संक्रमण फैलने की आशंका बढ़ जाती.

कांवड़ यात्रा में भीड़ को ध्यान में रखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन नहीं हो पाता है. ऐसे में राज्य सरकारों ने फैसला किया है कि कोरोना संकट के चलते कांवड़ यात्रा को स्थगित कर दिया जाए. सावन में शुरू होने वाली यह धार्मिक यात्रा बेहद चर्चा में रहती है. कांवड़िये बड़ी संख्या में हरिद्वार से गंगाजल कांवड़ में भरकर अपने यहां के शिवमंदिरों में पहुंचते हैं.


ADVERTISEMENT