महाराष्ट्र में गर्मी ने तोड़े रिकॉर्ड, 47 डिग्री तक पहुंचा तापमान, रेड अलर्ट जारी


 दिल्ली, लखनऊ, भोपाल, जयपुर, गुरुग्राम समेत देश के कई बड़े शहरों में आसमान से आग बरस रही है. आज यानी मंगलवार को भी इन शहरों का अधिकतम तापमान 45 डिग्री रहने का अनुमान है. आईएमडी ने उत्तर भारत के लिहाज से 26 मई के लिए रेड अलर्ट जारी किया है. इस दौरान जब लू का प्रकोप अपने चरम पर हो सकता है.

दिल्ली, राजस्थान, हरियाणा, पंजाब और उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में पिछले कुछ दिन से जबरदस्त गर्मी है और कहीं-कहीं तो तापमान 47 डिग्री सेल्सियस के ऊपर तक जा रहा है. आईएमडी के मुताबिक रेड अलर्ट की चेतावनी लोगों को दोपहर 1 बजे से शाम 5 बजे तक घरों से नहीं निकलने की सलाह के साथ जारी की गई है जिस समय लू का प्रकोप चरम पर होगा.

राजस्थान में तापमान 47 के पार

राजस्थान में सोमवार को दिन का सर्वाधिक तापमान चूरू में 47.5 डिग्री सेल्सियस मापा गया, वहीं उत्तर प्रदेश में इलाहाबाद सबसे गर्म रहा जहां तापमान 46.3 डिग्री सेल्सियस रहा. राष्ट्रीय राजधानी में अधिकतम तापमान 44 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

अगले दो-तीन दिन तक जारी रहेगा गर्मी का कहर

आईएमडी ने अपने दैनिक बुलेटिन में कहा कि हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, पूर्वी मध्य प्रदेश और विदर्भ में कुछ हिस्सों में लू चल सकती है वहीं कुछ स्थानों पर प्रचंड लू के थपेड़े महसूस किएजा सकते हैं. अगले दो-तीन दिन में पंजाब, छत्तीसगढ़, ओडिशा, गुजरात, मध्य महाराष्ट्र, मराठवाड़ा, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, बिहार और झारखंड में कुछ-कुछ स्थानों पर लू चलने की संभावना है.

महाराष्ट्र में गर्मी ने तोड़े रिकॉर्ड

भीषण गर्मी में इंसान का शरीर जरूर झुलस रहा है. पैदल घर जाते मजदूरों के लिए ये तो गर्मी करेले पर नीम चढ़ी जैसी हो गई है. महाराष्ट्र के अकोलो में तो गर्मी ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए. पारा 47.4 डिग्री के पार पहुंच गया. 10 साल में ऐसी गर्मी नहीं पड़ी. मौसम विभाग की माने तो अगले 2 से 3 दिन में तापमान और बढ़ेगा.

विदर्भ में काम नहीं कर रहा एसी

लोगों को घर में रहने और ज्यादा से ज्यादा पानी पीने की सलाह दी गई है. विदर्भ के चंद्रपुर शहर में भी आसमान से आग बरस रही है. 47 डिग्री वाली गर्मी के आगे कूलर, AC भी जवाब दे रहे हैं.

कब मिलेगी गर्मी से राहत?

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के अनुसार उत्तर भारत के अनेक हिस्सों में 29-30 मई को धूल भरी आंधी चलने और गरज के साथ छींटे पड़ने की संभावना है जिससे लू के प्रकोप से राहत मिल सकती है.

आईएमडी के क्षेत्रीय मौसम विज्ञान विभाग के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने कहा कि पश्चिमी विक्षोभ और पुरवाई हवाओं के कारण दिल्ली, हरियाणा और उत्तर प्रदेश में 29-30 मई को धूल भरी आंधी चलने तथा गरज के साथ छींटे पड़ने की संभावना है.

श्रीवास्तव ने कहा कि इस अवधि में हवा की रफ्तार भी करीब 50-60 किलोमीटर प्रति घंटे हो सकती है जिससे भीषण गर्मी से राहत मिलेगी. पश्चिमी विक्षोभ एक चक्रवाती तूफान है जो भूमध्यसागर से पैदा होकर मध्य एशिया में से गुजरता है. हिमालय के संपर्क में आने पर इससे पहाड़ों और मैदानों पर बारिश होती है.

कब होती है लू की घोषणा?

मैदानी क्षेत्रों में लू की घोषणा तब की जाती है जब वास्तविक अधिकतम तापमान 45 डिग्री सेल्सियस होता है, वहीं 47 डिग्री सेल्सियस या इससे अधिक तापमान की स्थिति में तीव्र लू चलती है. आईएमडी किसी मौसम की तीव्रता के आधार पर हरे, पीले, नारंगी या लाल रंग आधारित चेतावनी जारी करता है.

मई महीने के आखिरी हफ्ते का पारा ही जून में पड़ने वाली गर्मी का ट्रेलर दिखा रहा है. कोरोना के साथ-साथ अब गर्मी भी सिरदर्द बन गई है. लॉकडाउन और भीषण गर्मी की वजह से लोग घरों से बाहर कदम रखने से बच रहे हैं.

ADVERTISEMENT