कोरोना के उपचार के लिए सभी जिलों में नोडल अस्पताल तैयार करेगी बंगाल सरकार: ममता


कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बड़ा फैसला लेते हुए सोमवार को राज्य के सभी 22 जिलों में कोरोना के उपचार के लिए 22 नोडल अस्पताल बनाने की घोषणा की। इनमें कई प्राइवेट अस्पताल भी होंगे जिन्हें राज्य सरकार टेकओवर करेगी। उसका मानव संसाधन से लेकर सभी प्रकार का खर्च व व्यवस्था राज्य सरकार ही करेगी। इसके अलावा ममता ने घोषणा की कि सभी 22 जिलों में 22 नोडल ऑफिसर भी नियुक्त किए जाएंगे जो कोरोना को लेकर सारा देखरेख व राज्य सरकार के साथ समन्वय आदि का काम देखेंगे। इस दिन राज्य सचिवालय नवान्न में कोरोना से निपटने की तैयारियों को लेकर ममता ने सभी जिला प्रशासन व जिलों के मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओएच) के साथ समीक्षा बैठक की, जिसमें कई बड़े फैसले लिए गए।

ममता ने कहा कि आगामी दो सप्ताह बहुत ही कठिन (इमरजेंसी) का समय है। इस दौरान कोई भी हाथ पर हाथ धरकर बैठे यह नहीं चलेगा। उन्होंने कहा कि कोरोना के उपचार के लिए सभी 22 जिलों में 22 नोडल अस्पताल तुरंत तैयार किया जाएगा। इसमें विभिन्न जिलों में कई प्राइवेट अस्पताल भी होंगे, जिसे राज्य सरकार टेकओवर करके कोरोना मरीजों के इलाज के अनुरूप पूरी व्यवस्था करेगी। इसमें बेड, चिकित्सा उपकरण, डॉक्टर और नर्स से लेकर सभी व्यवस्था राज्य सरकार करेगी। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि 22 जिले में 22 नोडल अधिकारी भी नियुक्त किए जाएंगे, जो पूरी व्यवस्था की देखरेख से लेकर सेंट्रलाइज्ड स्तर पर मुख्य सचिव, स्वास्थ्य सचिव आदि के साथ समन्वय करेंगे।