लॉक डाउन : सोशल डिस्टेंसिंग के लिए नेताओं और समाजसेवियों ने चलाया जागरूकता अभियान


युवाशक्ति टीम
-
श्रीरामपुर : कोरोना के खतरे को देखते हुए पूरे देश में लॉक डाउन है। लोग अपने-अपने घरों में कैद हैं. इसके बावजूद कुछ लोग बाजारों, राशन की दुकानों और दवा की दुकानों पर भीड़ कर रहे हैं जिसके कारण संक्रमण का खतरा बना हुआ है. इसको देखते हुए गुरुवार को राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी स्वयं मैदान में उतरी थी. उन्हें सड़क पर लोगों के खड़े होने के लिए गोल घेरा बनाते हुए भी देखा गया था. शुक्रवार दोपहर हुगली जिले के श्रीरामपुर में भी कुछ ऐसी ही तस्वीर देखने को मिली. 

श्रीरामपुर के 21 नंबर वार्ड की पार्षद तियशा मुखर्जी ने कड़ी धूप में अपने इलाके में घूमकर सोशल डिस्टेंसिंग के प्रति लोगों को सचेत किया और उनसे अपने-अपने घरों में रहने की अपील की. इसके अलावा पार्षद ने स्वयं राशन, सब्जी और दवा की दुकानों के सामने लोगों के खड़े होने के लिए तकरीबन दो-दो मीटर की दूरी पर गोल घेरे बनाकर स्थान भी निश्चित कर दिए। उन्होंने लोगों से अपील की कि यदि बहुत जरूरी ना हो तो वह अपने घरों से ना निकले और घरों से निकलने पर भी निर्दिष्ट स्थानों पर ही खड़े हो एवं सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करें. ताकि कोरोना वायरस का संक्रमण न फैल पाए. 

इसके अलावा शुक्रवार को जिले में विभिन्न राजनीतिक दलों और स्वयंसेवी संगठनों के लोग कोरोना वायरस के संक्रमण के प्रति लोगों को सचेत करने के लिए सड़कों पर उतरे. उन्होंने लोगों के घरों में जाकर सेनीटाइजर और मास्क वितरित किया. उत्तरपाड़ा में विधायक प्रवीर घोषाल और कोननगर नगरपालिका के चेयरमैन बप्पादित्य चटर्जी ने लॉक डाउन के कारण इलाके में फंसे गरीब श्रमिकों के लिए भोजन बनवाया और उनमें भोजन भी वितरित किया. वहीं रिसड़ा नगरपालिका को भी शुक्रवार को लॉक डाउन के मद्देनजर सक्रिय देखा गया.

रिसड़ा नगर पालिका के चेयरमैन विजय सागर मिश्रा ने नगरपालिका की ओर से एक हेल्पलाइन नंबर जारी किया और कहा कि लॉक डाउन की स्थिति में किसी को भी किसी भी प्रकार की जरूरत हो तो वे 24 घंटे उस हेल्पलाइन नंबर पर फोन कर सकते हैं. नगरपालिका उनके सहायता के लिए हमेशा उनके साथ खड़ी है. इसके अलावा रिसड़ा के समाजसेवी विमल कुमार सिंह ने भी सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों से ना घबराने की अपील करते हुए कहा कि लॉक डाउन के दौरान किसी प्रकार की समस्या होने पर लोगों से संपर्क कर सकते हैं, इस विपदा की घड़ी में वह हमेशा लोगों के साथ खड़े हैं. उनका किसी भी राजनीतिक दल से कोई लेना-देना नहीं है.