अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ होगी कार्रवाई : ममता


युवाशक्ति संवाददाता
-
कोलकाता : जानलेवा कोरोना वायरस के लगातार फैलते प्रकोप के बीच भी अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ पुलिस ठोस कानूनी कार्रवाई करेगी। यह चेतावनी मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शुक्रवार को दी है. राज्य सचिवालय में मीडिया से वार्ता करते हुए सीएम ने कहा कि संकट की इस घड़ी में भी कुछ लोग अफवाह फैलाने से बाज नहीं आ रहे हैं. ऐसी ही फर्जी खबरें फैला दी गई थीं कि कोरोना संक्रमित लोगों का इलाज करने वाले डॉक्टर भी संक्रमित हो गए हैं. ऐसे लोगों के खिलाफ मैंने कार्रवाई करने का निर्देश दिया है. कोलकाता पुलिस की खुफिया टीम और स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) इसकी जांच में जुट गई है. मुख्यमंत्री ने कहा कि आम लोगों को किसी भी तरह से घबराने की जरूरत नहीं है. पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा शुरू किया गया हेल्पलाइन नंबर 1070 और 03322143526 लगातार काम कर रहा है. लोग अपनी शिकायतों के संबंध में इन नंबरों पर फोन कर बता सकते हैं. तत्काल प्रशासनिक मदद की जाएगी. 

एक दिन पहले ही कोलकाता के बेलियाघाटा आईडी अस्पताल के नर्सों ने विरोध प्रदर्शन करते हुए आरोप लगाया था कि उन्हें ना तो समय पर भोजन मिल रहा है और ना ही सुरक्षा के लिए हैंड सेनीटाइजर, मास्क और बचाव के लिए आवश्यक यूनिफार्म. इस संबंध में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बताया कि राज्य सरकार ने 5000 थर्मल गन खरीदा है. इसका वितरण शुरू कर दिया गया है. इस गन का इस्तेमाल शरीर का तापमान मापने के लिए होता है. इसके अलावा पर्सनल प्रोटेक्टिव सूट यानी ऐसा यूनिफार्म जिसे पहनने के बाद संक्रमण के खतरे से बचा जा सकता है, भी राज्य सरकार खरीद चुकी है. हैंड सेनीटाइजर भी खरीदे गए हैं। इसका वितरण शुरू कर दिया गया है. 

मुख्यमंत्री ने उन 18 राज्यों के मुख्यमंत्रियों को भी धन्यवाद दिया, विशेष तौर पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री को जिन्होंने वहां रहने वाले बंगाल का मजदूरों को हर तरह की सुविधा देने का आश्वासन दिया है. इसके अलावा यह भी घोषणा की कि बाजार में काम करने वाले लोगों के रहने और खाने की व्यवस्था पोस्ता धर्मशाला में की गई है. फुटपाथ पर रहने वाले लोगों से मुख्यमंत्री ने अपील की कि वे सड़कों पर ना रहकर राज्य सरकार द्वारा बनाए गए शेल्टर होम में चले जाएं. वहां उनकी सुरक्षा और खान-पान का ध्यान रखा जाएगा.