हावड़ा अस्पताल में नर्स और स्वास्थ्य कर्मियों ने किया सुपर का घेराव


युवा शक्ति टीम 
-
हावड़ा : कोरोना वायरस की वजह से जहाँ एक ओर पूरे राज्य में लोग अपने को सुरक्षा के घेरे में रख रहे हैं तो वहीं दूसरी ओर जान पर खेल कर बीमारों की सेवा कर रही है  हावड़ा अस्पताल की नर्सेस और स्वास्थ्य कर्मी. अपनी सुरक्षा की मांग को लेकर सोमवार को हावड़ा अस्पताल की  नर्सेस और स्वास्थ्य कर्मियों ने अस्पताल के सुपर नारायण चटर्जी का घेराव किया.

अस्पताल के नर्सों और स्वास्थ्य कर्मियों ने निजी सुरक्षा उपकरणों की मांग को लेकर हावड़ा अस्पताल के सुपर  कार्यालय के सामने धरना दिया। उन्होंने आरोप लगाया कि  कई रोगियों को बुखार और सांस की तकलीफ के कारण हावड़ा अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती नहीं करा कर जेनरल वार्ड में भर्ती कराया जा रहा है. अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में 30 बेड हैं लेकिन उन्हें वहां स्थानांतरित नहीं किया जा रहा है।  जिसके कारण वे काफी डरे हुए हैं। आरोप है रोगियों को सीधे बाहरी राज्य से यहां भर्ती कराया जा रहा है। प्रदर्शन करने वालों का आरोप है कि उन्हें पर्याप्त रूप से दस्ताने और हैंड सैनिटाइज़र उपलब्ध नहीं कराए जा रहे हैं।

नतीजतन, उन्हें डर है कि किसी भी समय उन पर कोरोना वायरस हमला हो सकता है। उन्होंने कहा कि वे दहशत में है.   इसके अलावा, उन्होंने कहा कि यदि सुपर ने इस संबंध में तत्काल कार्रवाई नहीं की, तो वे काम पर नहीं जायेंगे। इस मुद्दे पर बात करने के लिए अस्पताल अधिकारी सहमत नहीं हुए.