मासूम बच्ची को स्टेज पर डांस करता देख भड़कीं सोना महापात्रा


महिलाओं के ख़िलाफ़ होने वाले जघन्य अपराधों ने इस वक़्त पूरे देश को हिलाया हुआ है. अलग-अलग हिस्सों से दुष्कर्म और अत्याचार की ख़बरें आ रही हैं. इन्हीं ख़बरों के बीच सिंगर सोना महापात्रा ने एक बेहद ज़रूरी मुद्दा उठाया है, जो सीधे बच्चों से जुड़ा है.

सोना ने एक नोट लिखकर द्विअर्थी या अनुचित गानों पर बच्चों से स्टेज परफॉर्मेंस करवाने की मानसिकता पर सवाल उठाये हैं. सोना ने पहल करते हुए अपने एक कंसर्ट में बच्ची को ऐसे ही गाने पर परफॉर्म करने से रोक दिया.

सोना ने माता-पिताओं को संबोधित करते हुए नोट में लिखा- प्रिय पैरेंट्स, यह बात समझ लीजिए कि एक कंसर्ट स्टेज सालों की महेनत और समर्पण से कमाया जाता है. अपने बच्चों को गायक की अनुमति के बिना या किसी बड़े की देखरेख के बिना, स्टेज पर भेजा देना, जहां इतने भारी-भरकम केबल होते हैं, ना सिर्फ़ अपमानजनक है, बल्कि ख़तरनाक भी है. सबसे ज़रूरी है कि इसका संदर्भ समझिए. एक छोटी सी बच्ची को बन्नो तेरा स्वैगर लागे सेक्सी और बेदर्दी राजा जैसे गानों पर नचाना अनुचित और घटियापन है.

मेरे पास दूसरा कोई रास्ता नहीं था, सिवाय इसके कि उसे किसी के साथ बाहर भेज दूं. इसमें बच्चों को कोई दोष नहीं है. वो तो मासूम है. बड़ों ने उसे बेशर्मी से स्टेज पर उतार दिया. वहां दर्शकों के लिए सीढ़ियां भी नहीं थीं. मैं अपने कंसर्ट में बच्चों और पैरेंट्स को बुलाती हूं, मगर यह मेरा अधिकार होना चाहिए, सही गाना और सुरक्षा व्यवस्था होनी चाहिए. सोना ने इस नोट में बच्ची का चेहरा ढक दिया है. साथ ही उसे शुभकामनाएं दी हैं.