संयुक्त राष्ट्र से भारत का तालिबान को संदेश, कहा- जो वादे किए उनका सम्मान किया जाए

अफगानिस्तान के मौजूदा हालात को लेकर भारत ने एक बार फिर से चिंता जताई है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति ने कहा है कि अफगानिस्तान की स्थिति अभी भी नाजुक बनी हुई है और एक पड़ोसी होने के नाते हमें अफगानिस्तान के मौजूदा हालातों को लेकर चिंता है।

उन्होंने कहा, हमने पिछले महीने के दौरान अफगानिस्तान की स्थिति में बदलाव को देखा है। सुरक्षा परिषद ने अगस्त में तीन बार बैठक की और मौजूदा स्थिति पर सामूहिक रूप से चर्चा की। तिरुमूर्ति ने कहा कि जैसा कि पिछले महीने काबुल हवाई अड्डे पर हुए निंदनीय आतंकवादी हमले से देखा गया है कि आतंकवाद अफगानिस्तान के लिए एक गंभीर खतरा बना हुआ है। इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि इस संबंध में की गई प्रतिबद्धताओं का सम्मान किया जाए और उनका पालन हो।

उन्होंने कहा कि अफगान बच्चों के सपनों को साकार करना और अल्पसंख्यकों के अधिकारों की रक्षा करनी है। उन्होंने कहा कि हम तुरंत मानवीय सहायता प्रदान करने का आह्वान करते हैं। उन्होंने कहा कि भारत अफगानिस्तान में एक ऐसी व्यवस्था का आह्वान करता है, जिसमें सभी वर्गों का प्रतिनिधित्व है। एक ऐसी सरकार हो जिसे अंतरराष्ट्रीय स्वीकार्यता और वैधता मिले।