बंगाल सरकार का निर्देश, दुर्गापूजा पंडालों में कोरोना प्रोटोकाल का हो सख्ती से पालन

कोरोना महामारी की संभावित तीसरी लहर के मद्देनजर बंगाल सरकार सतर्क है। बंगाल के मुख्य सचिव हरिकृष्ण द्विवेदी ने सभी जिलों के जिलाधिकारियों एवं पुलिस अधीक्षक (डीएम- एसपी) को दुर्गापूजा के पंडालों में कोरोना प्रोटोकाल का सख्ती से पालन सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है।

मुख्य सचिव ने बुधवार को सभी जिलों के डीएम और एसपी के साथ वर्चुअल बैठक की। बैठक में उन्होंने सभी जिलों के डीएम और एसपी को बताया कि कोरोना के मद्देनजर राज्य सरकार की ओर से पिछले वर्ष पंडाल निर्माण के संबंध में जो गाइडलाइंस जारी की गई थी, इस बार भी उसके अनुसार ही पूजा पंडाल का निर्माण की अनुमित दी गई। पूजा कमेटियों को दुर्गापूजा पंडालों को हर तरफ से खुला रखने को कहा गया है।

सांस्कृतिक कार्यक्रमों के आयोजन पर प्रतिबंध लगाया गया है। पंडालों में शारीरिक दूरी के नियमों का पालन सहित मास्क और सेनिटाइजेशन की व्यवस्था करने को कहा गया है। इन दिशा-निर्देशों का शत फीसद पालन हो इसका ध्यान रखने को कहा गया है। मुख्य सचिव ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि इसमें किसी तरह की कोताही नहीं बरती जाए।

बता दें कि इससे पहले मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की अध्यक्षता में मंगलवार को कोलकाता के नेताजी इनडोर स्टेडियम में पूजा कमेटियों के अधिकारियों के साथ बैठक हुई थी। इस दौरान भी मुख्यमंत्री ने सभी पूजा कमेटियों से कोविड प्रोटोकाल का सख्ती से पालन करने को कहा था। राज्य सरकार की ओर से इस दौरान प्रत्येक पूजा कमेटियों को 50,000 रुपये का आर्थिक अनुदान देने की भी घोषणा की गई थी। इसके साथ ही दुर्गा पूजा के दौरान पूजा कमेटियों को बिजली बिल में भी 50 फीसद छूट की घोषणा की गई है।