Kisan Mahapanchayat: करनाल, पानीपत सहित 5 जिलों में इंटरनेट सेवा बंद, कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय की परीक्षा स्‍थगित

करनाल में तीनों कृषि सुधार कानून विरोधी आंदोलनकारियों की पंचायत और लघु सचिवालय का घेराव कार्यक्रम है। इसमें आसपास के जिलों के अलावा दूसरे राज्‍यों से किसान जुट रहे हैं। 28 अगस्‍त को हुए हंगामे के बाद सरकार सख्‍त रुख अपनाया है। करनाल, पानीपत सहित 5 जिलों की इंटरनेट और एसएमएस सेवाओं को बंद कर दिया है।

इन जिलों में बंद की गई इंटरनेट सेवा

हरियाणा सरकार ने करनाल, कुरुक्षेत्र, कैथल, जींद और पानीपत में मोबाइल इंटरनेट और एसएमएस सेवा बंद करने के आदेश दिए हैं। करनाल में जहां दोपहर से इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई। वहीं, अन्‍य जिलों में सोमवार रात यानी बारह बजे से 7 सितंबर की रात 12 बजे तक इंटरनेट और एसएमएस सेवा बंद रहेगी।

कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय की परीक्षा भी स्‍थगित

कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय ने भी सात सितंबर को होने वाली परीक्षा स्थगित कर दी है। अब यह परीक्षा 28 सितंबर को होगी। कुवि प्रशासन ने मंगलवार को करनाल में इंटरनेट सेवा बंद होने की सूचना पर परीक्षा स्‍थगित करने का फैसला लिया है।

आफलाइन और आनलाइन मोड में परीक्षा दे सकते हैं छात्र

कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के अंतर्गत यूजी, पीजी और दूरस्थ शिक्षा की परीक्षा चल रही हैं। कुवि ब्लैंडिड मोड में परीक्षा ले रहा है। यानी विद्यार्थी आफलाइन और आनलाइन किसी भी तरह से परीक्षा दे सकते हैं। अधिकतर परीक्षार्थी आनलाइन परीक्षा दे रहे हैं। प्रशासन ने किसानों के सात सितंबर को करनाल में महापंचायत बुलाने पर किसी तरह की स्थिति से निपटने के लिए इंटरनेट सेवाओं को बंद करने का फैसला लिया है। इस दौरान एसएमएस सेवा भी बंद रहेंगी। कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय प्रशासन ने विद्यार्थियों के हित को देखते मंगलवार को होने वाली परीक्षा स्थगित कर दी है।

बाकी परीक्षा पहले की तरह होंगी

कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के कुलपति सोमनाथ सचदेवा ने बताया कि सात सितंबर को होने वाली कुवि की सभी परीक्षाएं स्थगित कर दी है। अब यह परीक्षा 28 सितंबर को होंगी। कुवि के लोकसंपर्क विभाग के उप-निदेशक डा. दीपक राय बब्बर ने बताया कि हरियाणा के कुछ हिस्सों में इंटरनेट बाधित होने के कारण सात सितम्बर को होने वाली सभी परीक्षाएं स्थगित की गई हैं। इस संबंध में परीक्षा शाखा ने अधिसूचना जारी कर दी हैं।

दिल्ली जाने के लिए लोगों की धड़कन बढ़ी

करनाल में किसानों के महापंचायत बुलाने के बाद प्रशासन ने जीटी रोड से आने-जाने वालों के लिए एडवाइजरी जारी की है। करनाल प्रशासन व पुलिस ने सात सितंबर को करनाल में जीटी रोड की बजाय लिंक सड़कों का प्रयोग करने की सलाह दी है। ऐसे में दिल्ली से आने-जाने वाले लोगों की चिंता बढ़ गई है। कुछ लोगों ने लोकल रास्तों को तलाश लिया है। वहीं कुछ लोगों ने ट्रेनों में जाने का फैसला लिया है।

ये है पूरा मामला

28 अगस्‍त को भाजपा की बैठक के दौरान बसताड़ा टोल प्‍लाजा पर किसानों ने हंगामा कर दिया था। इसके बाद पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। भाकियू प्रदेशाध्‍यक्ष ने हरियाणा के हाईवे जाम करने का फैसला लिय। आंदोलनकारियों ने हाईवे जाम कर दिए। देर शाम तक जाम खोला गया। इसके बाद सात सितंबर तक का अल्‍टीमेटम दिया। अब किसान महापंचायत के साथ-साथ करनाल लघु सचिवालय का घेराव करेंगे।