भक्तों के लिए खोला गया कालीघाट मंदिर का गर्भगृह, सुबह आठ से 11 बजे और शाम चार से छह बजे तक खुला रहेगा

कोलकाता में कोरोना के मामलों में आई गिरावट के बाद कालीघाट मंदिर के पट कुछ समय पहले भक्तों के लिए खोल दिए गए थे लेकिन उस समय किसी को भी मंदिर के गर्भगृह में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी गई थी। अब कोरोना के हालात में और सुधार होने के बाद शनिवार से मंदिर के गर्भगृह को भी खोल दिया गया है। इसके साथ ही पूजा-अर्चना भी की जा सकेगी।

मंदिर प्रशासन की तरफ से कहा गया है कि फिलहाल एक साथ 10 लोगों को ही गर्भगृह में प्रवेश करने की अनुमति दी जाएगी। 10 लोगों को पूजा करने के लिए दो मिनट का समय दिया जाएगा। सैनिटाइजिंग टनल से होकर मंदिर में प्रवेश करना होगा। बिना मास्क के किसी को भी मंदिर में प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा। गर्भगृह सुबह आठ बजे से लेकर 11 बजे तक और शाम चार बजे से छह बजे तक खुला रहेगा।

गौरतलब है कि कालीघाट मंदिर को 15 मई को बंद कर दिया गया था। इसके बाद यह 15 जुलाई को खुला था, हालांकि तब गर्भगृह में किसी को प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी गई थी। गर्भ गृह खुलने के बाद शनिवार को मां काली के दर्शन-पूजन के लिए कालीघाट मंदिर में भक्तों की भीड़ उमड़ पड़ी। इस बाबत पुलिस कर्मियों की बड़ी संख्या में तैनाती की गई थी। मंदिर का गर्भगृह खुलने से आसपास फल-फूल व प्रसाद बेचने वाले दुकानदार भी खुश हैं। उनका कहना है कि इससे उनकी कमाई बढ़ेगी।

गर्भगृह खुलने के बाद अब दिन-ब-दिन कालीघाट मंदिर में भीड़ बढ़ने का अनुमान है। गौरतलब है कि कोरोना महामारी से पहले कालीघाट मंदिर में रोजाना हजारों की संख्या में भीड़ उमड़ती थी। मां काली के दर्शन- पूजन के लिए दूर-दूर से लोग पहुंचते थे।