CM Nitish Kumar से मिलकर करनी है फरियाद, ऐसे कराएं निबंधन, कैमूर के दो लोगों के लिए पटना से आई गाड़ी


मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक बार फिर जनता दरबार लगाने की पहल की है। जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम में कैमूर जिला के लोगों ने शामिल होने के लिए आवेदन करना शुरू कर दिया हैं। जानकारी के मुताबिक मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद ऐप के माध्यम से कैमूर जिले के तीन लोगों ने अपनी समस्या मुख्यमंत्री जनता दरबार के लिए ऑनलाइन किया था। इसमें से जिले के दो लोगों को शामिल होने के लिए जिला प्रशासन ने वाहन की व्यवस्था कर उन्हें पटना भेजा है।

वरीय उप समाहर्ता अमरेश कुमार अमर ने जानकारी देते हुए बताया कि कैमूर जिले के तीन लोगों  ने मुख्यमंत्री जनता दरबार के लिए ऑनलाइन आवेदन किया था। जिसमें से दो लोगों को सोमवार को पटना भेजा गया है। जिससे  वह जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम शामिल हो सके, साथ ही अपनी  फरियाद को मुख्यमंत्री के समक्ष रख सके।

बता दें कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम कि फिर से शुरुआत की है। पटना में जनता दरबार कार्यक्रम देशरत्न मार्ग स्थित मुख्यमंत्री सचिवालय के संवाद सभाकक्ष में सुबह 11:00 बजे से आयोजन किया गया है। इसमें शामिल होने वाले सभी लोगों को बेहतर बैठने की व्यवस्था के साथ कोविड-19  की गाइडलाइन का पालन करते हुए पूरी व्यवस्था की गई है।

जनता दरबार में शामिल होने वाले फरियादियों की पटना रवाना होने से पूर्व जिले में ही कोरोना की जांच कराई जा रही है। मुख्यमंत्री के जनता दरबार कार्यक्रम में शामिल होने वाले फरियादियों को पटना भेजने के लिए वाहन की व्यवस्था निशुल्क की जाती है। इसका जिम्‍मा संबंधित जिले के प्रशासन का होता है, ताकि निर्धारित समय पर फरियादी पटना पहुंचकर जनता दरबार कार्यक्रम में शामिल हो सकें।

वहीं सरकार की व्यवस्था के तहत जिले में भी भभुआ तथा मोहनियां अनुमंडल में भी लोक शिकायत निवारण का कार्यालय है, जहां पर विभिन्न समस्याओं से जुड़े मामलों की सुनवाई की जाती है। इसके अलावा जिला लोक शिकायत निवारण कार्यालय में भी फरियादियों की समस्याओं को सुनकर संबंधित पदाधिकारियों द्वारा समस्याओं का निवारण कर न्याय प्रदान किया जा रहा है। इस व्यवस्था से लोगों को कम समय में न्याय मिल जा रहा है।