Mukesh Ambani का 15 करोड़ रुपए का है पैकेज लेकिन नहीं ली 1 रुपया सैलरी, जानिए क्‍या है वजह


देश के सबसे अमीर व्यक्ति मुकेश अंबानी का सालाना पैकेज 15 करोड़ रुपए का है लेकिन खास बात यह है कि उन्‍होंने बीते साल 1 रुपए सैलरी भी नहीं ली। इसकी वज‍ह सुनकर आप चौक जाएंगे। Reliance industries के मुताबिक 31 मार्च को समाप्त वित्त वर्ष में उन्‍होंने अपनी कंपनी से कोई वेतन नहीं लिया। उन्होंने कोरोना वायरस महामारी के प्रकोप के चलते व्यापार और अर्थव्यवस्था के प्रभावित होने के कारण स्वेच्छा से अपना पैकेज छोड़ दिया।

रिलायंस की रिपोर्ट में खुलासा

रिलायंस की ताजा वार्षिक रिपोर्ट में कहा गया कि कारोबारी साल 2020-21 के लिए अंबानी का पारिश्रमिक ‘शून्य’ था। उन्होंने इससे पिछले वित्त वर्ष में कंपनी से 15 करोड़ रुपये का वेतन प्राप्त किया, जो पिछले 15 साल से इसी स्तर पर बना हुआ था।

चचेरे भाइयों को मिले 24 करोड़

अंबानी के चचेरे भाई निखिल और हिताल मेसवानी का पारिश्रमिक 24 करोड़ रुपये पर बरकरार रहा, लेकिन इस बार इसमें 17.28 करोड़ रुपये का कमीशन शामिल है।

दूसरे लोगों की सैलरी

कार्यकारी निदेशक पीएमएस प्रसाद और पवन कुमार कपिल के पारिश्रमिक में बढ़ोतरी हुई। प्रसाद को 2020-21 में 11.99 करोड़ रुपये मिले। ये आंकड़ा इससे पिछले वर्ष में 11.15 करोड़ रुपये था। इसी तरह कपिल का पारिश्रमिक 4.04 करोड़ रुपये से बढ़कर 4.24 करोड़ रुपये हो गया।

नीता अंबानी को 8 लाख

अंबानी की पत्नी नीता, जो कंपनी के बोर्ड में गैर-कार्यकारी निदेशक हैं, को प्रत्येक बैठक के लिए आठ लाख रुपये और 1.65 करोड़ रुपये का कमीशन मिला। इस दौरान सभी स्वतंत्र निदेशकों को 1.65 करोड़ रुपये का कमीशन और 36 लाख रुपये तक बैठक शुल्क मिला।

कर्मचारियों का खास ख्‍याल

यही नहीं कंपनी ने ऐलान किया है कि वह Coronavirus की वजह से जान गंवाने वाले अपने कर्मचारियों के परिवार को वित्तीय सहायता (Financial Aid) देगी। इसके तहत मृत कर्मचारी के परिवार को अगले 5 साल तक सैलरी उपलब्ध कराई जाएगी। सैलरी का अमाउंट उतना होगा, जितनी कर्मचारी की आखिरी सैलरी थी। इसके अलावा रिलायंस इंडस्ट्रीज ने यह भी घोषणा की है कि वह कोरोनावायरस से मरने वाले कर्मचारी के बच्चों को ग्रेजुएशन तक की पढ़ाई के लिए सपोर्ट करेगी।