अग्रिम मोर्चे पर काम करने वाले योद्धाओं के लिए विशेष क्रैश कोर्स की शुरुआत करेंगे पीएम मोदी

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को कोरोना के खिलाफ अग्रिम मोर्चे पर काम करने वाले लोगों के लिए विशेष रूप से तैयार एक क्रैश कोर्स की शुरुआत करेंगे। पीएमओ (Prime Minister's Office, PMO) की ओर से साझा की गई जानकारी के मुताबिक क्रैश कोर्स के शुरू होने के साथ ही 26 राज्यों में 111 प्रशिक्षण केंद्रों में इस कार्यक्रम की विधिवत शुरूआत हो जाएगी। पीएम मोदी वीडियो कांफ्रेंस के माध्‍यम से इस कार्यक्रम को संबोधित भी करेंगे।

इस मौके पर केंद्रीय कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्री भी मौजूद रहेंगे। प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि इस कार्यक्रम का उद्देश्य देशभर में एक लाख से अधिक कोरोना योद्धाओं को प्रशिक्षण प्रदान करना है। इन लोगों को होम केयर सपोर्ट, बेसिक केयर सपोर्ट, एडवांस्ड केयर सपोर्ट, इमरजेंसी केयर सपोर्ट, सैंपल कलेक्शन सपोर्ट और मेडिकल इक्विपमेंट सपोर्ट जैसे छह कार्यों से जुड़ी भूमिकाओं का प्रशिक्षण दिया जाएगा।  

क्रैश कोर्स कौशल विकसित करने के अल्प अवधि के लिए चलाया जाने वाला कार्यक्रम होता है। इस कार्यक्रम पर 276 करोड़ रुपये के खर्च होंगे। इस कार्यक्रम को प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना तृतीय के केंद्रीय घटक के तहत तैयार किया गया है। इससे स्वास्थ्य के क्षेत्र में मौजूदा और भविष्य की श्रमशक्ति की जरूरतों को पूरा करने में मदद मिलेगी। इससे कुशल गैर-चिकित्सा स्वास्थ्यकर्मियों को तैयार किया जाएगा।

वहीं दूसरी ओर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने घोषणा की है कि उनकी सरकार कोविड-19 की तीसरी लहर से निपटने के लिए दिल्ली में पांच हजार युवकों को स्वास्थ्य सहायकों के रूप में प्रशिक्षित करेगी। उन्‍होंने बताया कि राष्‍ट्रीय राजधानी में स्वास्थ्य सहायकों या सामुदायिक नर्सिंग सहायकों को नर्सिंग और स्वास्थ्य रक्षा में दो हफ्ते का बुनियादी प्रशिक्षण दिया जाएगा। आने वाले 28 जून को 500 लोगों के पहले जत्थे के साथ इसकी शुरुआत होगी।