Adani Group की अधिकतर कंपनियों के शेयरों में लोअर सर्किट, Adani Enterprises में सबसे ज्यादा टूट, जानिए वजह

अडाणी समूह की कंपनियों के शेयरों में सोमवार को 5 से 18 फीसद की टूट देखने को मिली। इकोनॉमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट के बाद समूह की कंपनियों के शेयर लुढ़क गए। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि नेशनल सिक्योरिटीज डिपॉजिटरी लिमिटेड (NSDL) ने तीन फॉरेन फंड्स के अकाउंट को फ्रीज कर दिया है। इन फंड्स ने अडाणी ग्रुप की कंपनियों में कुल 435 अरब रुपयों का कुल निवेश किया है। सोमवार को अडाणी इंटरप्राइजेज (Adani Enterprises Share Price) और निफ्टी 50 में लिस्टेड अडाणी पोर्ट्स (Adani Ports Stock Price) के शेयरों में शुरुआती कारोबार में 15-15 फीसद की सबसे ज्यादा टूट देखने को मिली। सुबह 10:35 बजे Adani Enterprises के एक शेयर का मूल्य 20.70 फीसद टूटकर 1,270 रुपये प्रति शेयर पर चल रहा था।

एक अधिकारी के हवाले से इस रिपोर्ट में कहा गया है कि बेनिफिशयल ओनरशिप से जुड़े पर्याप्त डॉक्यूमेंट नहीं होने के कारण NSDL ने यह कदम उठाया है।

अडाणी ग्रुप की कंपनियों के टूटने से सोमवार को घरेलू शेयर बाजारों में भी गिरावट का रुख रहा। साथ ही सोमवार को जारी होने वाले महंगाई दर से जुड़े आंकड़े का असर भी बाजार पर देखने को मिला।

इससे पहले पिछले सप्ताह सेंसेक्स और निफ्टी रिकॉर्ड उच्च स्तर पर बंद हुए थे। देश के कई राज्यों में कोविड-19 से जुड़ी पाबंदियों को हटाए जाने के बाद इकोनॉमिक रिकवरी की उम्मीदों को मजबूती मिलने की वजह से शेयर बाजारों में यह तेजी देखने को मिली थी।

BSE Sensex सुबह 11:28 बजे 275.51 अंक टूटकर 52,199.25 अंक के स्तर पर ट्रेंड कर रहा था। इसी तरह NSE Nifty 95.75 अंक लुढ़ककर 15,703.60 अंक के स्तर पर ट्रेंड कर रहा था।

Sensex पर SBI, Kotak Mahindra Bank, HDFC, Maruti, ICICI Bank, HDFC Bank, NTPC और M&M के शेयरों में सबसे ज्यादा गिरावट देखने को मिल रही थी।