तेजस्‍वी यादव ने बिहार सरकार के मंत्रियों को खूब उड़ाई खिल्‍ली, फिर कहा- हम भी इसमें एनडीए का साथ देंगे

विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने बुधवार को विधानसभा में कई विभागों के बजट पर जारी बहस के दौरान बिहार सरकार के कई मंत्रियों पर गंभीर आरोप लगाए। उन्‍होंने कुछ मंत्रियों की खिल्‍ली भी उड़ाई। शराबबंदी की विफलता के लिए राज्य सरकार की आलोचना की। कहा कि मंत्री रामसूरत राय जिस स्कूल के संस्थापक हैं, उसके परिसर में अवैध शराब बरामद हुई। मंत्री के भाई हंसलाल राय प्राथमिकी अभियुक्त हैं। पता नहीं उनकी गिरफ्तारी होगी भी या नहीं।

एनडीए के मंत्रियों पर हमलावर

तेजस्वी ने पशुपालन मंत्री मुकेश सहनी का नाम लिए बगैर कहा-एक मंत्री ने अपने भाई को सरकारी कार्यक्रम में भेज दिया। मुख्यमंत्री कह रहे हैं कि उनके भाई सामान्य परिपाटी में चले गए। सच यह है कि मंत्री के भाई सिर्फ हाजीपुर ही नहीं गए। वे राज्य के कई जिलों के सरकारी कार्यक्रम में शरीक हुए। उन्होंने कहा कि पथ निर्माण विभाग में 'आरसीपी टैक्स' की वसूली हो रही है। उन्होंने इसका फुल फार्म भी बताया-रीजर्व कमीशन प्रीवलेज। बता दें कि आरसीपी जदयू के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष हैं। मंगल पांडेय को भी निशाने पर लिया। कहा- कुछ दिनों के लिए पथ निर्माण मंत्री बने थे। इंजीनियरों के ताबड़तोड़ तबादले कर दिए। तेजस्वी ने कहा कि एनडीए अलकतरा घोटाला की खूब चर्चा करता है। वह बताए कि उस घोटाला के लिए जिनका नाम लिया जा रहा था, उनके स्वजन को किसने उम्मीदवार बनाया।

हम साथ देंगे

अंत में कहा है कि सरकारी कंपनियां बिक रही हैं। इस क्षेत्र में नौकरियां खत्म हो रही हैं। एनडीए निजी क्षेत्र में आरक्षण के लिए पहल करे। हम साथ देंगे।

सड़क और पुल-पुलियों की गुणवत्‍ता का मजाक उड़ाया

उन्होंने पूछा कि पटना-बिहटा के बीच डेडीकेटेड एयरपोर्ट एक्सप्रेस वे के निर्माण का क्या हुआ। वह 18 महीने के लिए पथ निर्माण मंत्री बने थे, उसी समय इसके निर्माण की योजना बनी थी। उन्होंने सड़क और पुल-पुलियों की गुणवत्ता का मजाक उड़ाया-उद्घाटन से पहले पुल बह जाता है। विपक्ष के नेता ने कहा कि राज्य में ग्रामीण सड़कों का असली निर्माण स्व. रघुवंश प्रसाद सिंह के कार्यकाल में हुआ था, जब वे केंद्र सरकार के ग्रामीण विकास मंत्री थे। इसी तरह लालू प्रसाद ने रेल मंत्री रहते केंद्र के पूरे खर्च पर बड़ी संख्या में आरओबी का निर्माण कराया।

ADVERTISEMENT