केंद्रीय दवा प्राधिकरण विशेषज्ञ समिति की कोवैक्सीन को क्लीनिकल ट्रायल से बाहर लाने की सिफारिश

देश के केंद्रीय दवा प्राधिकरण के विशेषज्ञों की एक समिति ने भारत बायोटेक की स्वदेशी कोरोना वैक्सीन कोवैक्सीन(Covaxin) को क्लीनिकल परीक्षण प्रारूप से बाहर करते हुए इसके आपात उपयोग की अनुमति देने की बुधवार को सिफारिश की। आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी।यह सिफारिश भारत के औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआइ) के पास विचार करने के लिए भेजी गई है। यदि टीके को 'क्लीनिकल परीक्षण' इस्तेमाल के दायरे से बाहर कर दिया जाता है तो लाभार्थियों को इसकी खुराक लेने के लिए राजीनामे पर हस्ताक्षर नहीं करना होगा

केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) की विषय विशेषज्ञ समिति (एसईसी) ने कोवैक्सीन के तीसरे चरण के परीक्षण के आंकड़ों पर गौर करने के बाद यह सिफारिश की है। तीसरे चरण के परीक्षण में कोवैक्सीन को 80.6 प्रतिशत प्रभावी पाया गया है। हैदराबाद स्थित भारत बायोटेक ने क्लीनिकल परीक्षण प्रारूप की शर्त हटाने पर विचार करने के लिए हाल ही में औषधि नियंत्रक से अनुरोध किया था। सूत्रों ने बताया कि समिति ने कोवैक्सीन के तीसरे चरण के अंतरिम आंकड़ों की बुधवार को समीक्षा की, जिसके बाद उसने यह सिफारिश की।गौरतलब है कि औषधि नियामक ने जनहित में कोवैक्सीन के क्लीनिकल परीक्षण प्रारूप में आपात उपयोग की मंजूरी दी थी।

देश में अब तक दी गई वैक्सीन की 2.52 करोड़ डो

कोरोना वायरस के खिलाफ टीकाकरण अभियान में देश में अब तक वैक्सीन की 2.52 करोड़ से ज्यादा डोज दी जा चुकी है। अभियान के 54वें दिन बुधवार को शाम सात बजे तक लाभार्थियों को 9.22 लाख डोज दी गई। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह जानकारी दी। मंत्रालय ने बताया कि अस्थायी रिपोर्ट के मुताबिक अब तक लाभार्थियों को वैक्सीन की कुल दो करोड़ 52 लाख 89 हजार 693 डोज दी लगाई जा चुकी है। लाभार्थियों में 71,70,519 स्वास्थ्यकर्मी, 70,31,147 फ्रंटलाइन वर्कर्स, 60 साल से ज्यादा उम्र के 55,99,143 लोग और 45 साल से अधिक और गंभीर रोग से ग्रस्त 9,29,359 व्यक्ति शामिल हैं।

स्वास्थ्यकर्मियों में से 39,77,407 और फ्रंटलाइन वर्कर्स में से 5,82,118 को वैक्सीन की दूसरी खुराक भी दी जा चुकी है। मंत्रालय ने बताया कि बुधवार को 7,25,930 लोगों को टीके की पहली और 1,96,109 स्वास्थ्यकर्मियों और फ्रंटलाइन वर्कर्स को दूसरी खुराक दी गई। पहली डोज लेने वालों में 60 साल से ज्यादा उम्र के 4,95,026 लोग और गंभीर बीमारियों से ग्रस्त 45 साल से अधिक आयु के 95,834 व्यक्ति शामिल थे।

ADVERTISEMENT