सारधा मामले में ममता के करीबी चित्रकार शुभ प्रसन्ना व तृणमूल नेता समीर चक्रवर्ती को ईडी ने भेजा नोटिस

हजारों करोड़ रुपये के सारधा चिटफंड घोटाला मामले में धन शोधन की जांच कर रहे प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की टीम ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के करीबी चित्रकार शुभ प्रसन्ना को नोटिस भेजा है। उन्हें आगामी 15 मार्च को सॉल्टलेक के सीजीओ कांप्लेक्स स्थित जांच एजेंसी के पूर्वी क्षेत्रीय मुख्यालय में हाजिर होने को कहा गया है। बुधवार को शुभ प्रसन्ना ने स्वीकार किया है कि उन्हें ईडी ने नोटिस भेजा है। हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया कि वह पूछताछ में शामिल होंगे या नहीं। इसके अलावा इसी मामले में तृणमूल कांग्रेस के एक और नेता समीर चक्रवर्ती को भी ईडी ने नोटिस भेजा है। उन्हें 12 मार्च को हाजिर होने को कहा गया है। इसके अलावा बुधवार को ईस्ट बंगाल क्लब के अधिकारी देवव्रत सरकार से पूछताछ हुई।

बताते चलें कि सारधा चिटफंड मामले में शुभ प्रसन्ना की भूमिका एक मीडिया चैनल की खरीद बिक्री में रही है। जांच एजेंसी के सूत्रों ने बताया है कि सारधा समूह ने एक मीडिया चैनल को खरीदा था जिसमें रुपये का लेन देन शुभ प्रसन्ना के बैंक खाते के जरिए हुई थी। इसके अलावा मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की एक पेंटिंग को सारदा प्रमुख सुदीप्त सेन ने 1.8 करोड़ रुपये में खरीदी थी।

विशेषज्ञों ने बताया था कि सीएम की पेंटिंग इतनी महंगी बिकने लायक नहीं थी लेकिन शुभ प्रसन्ना ने ही उसकी कीमत निर्धारित की थी और सारधा चिटफंड कंपनी मालिक को उसे खरीदने के लिए मजबूर किया गया था। इसके पहले भी जांच एजेंसियां चित्रकार से पूछताछ कर चुकी है। अब एक बार फिर चुनाव से पहले उनकी मुश्किलें बढ़ रही हैं।

ADVERTISEMENT