देश में तेजी से पैर पसार रहा कोरोना, कई राज्यों में नाइट कर्फ्यू, पीएम मोदी आज मुख्यमंत्रियों से करेंगे बातचीत

देश में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। महाराष्ट्र, गुजरात, मप्र के बाद अब पंजाब में अपने पैर पसार रहा है। तेजी से बढ़ रहे मामलों की वजह से मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल और इंदौर में बुधवार से नाइट कर्फ्यू लगाने का फैसला किया गया है। मप्र में पिछले कुछ दिनों से रोजाना औसतन 600 से 700 मामले सामने आ रहे हैं। वहीं, गुजरात में अहमदाबाद, वडोदरा, सूरत और राजकोट में नाइट कर्फ्यू को 31 मार्च तक बढ़ा दिया गया है। हालांकि गुजरात के इन शहरों में पहले से ही नाइट कर्फ्यू लगा हुआ था, लेकिन इसका समय रात 12 बजे से सुबह 6 बजे तक था। वहीं पंजाब के रूपनगर जिले में आज रात 11:00 बजे से  सुबह 05:00 बजे तक रात्रि कर्फ्यू लगा दिया गया है। जो अगले आदेश तक मान्य रहेगा।

इस बीच महाराष्ट्र, तमिलनाडु, पंजाब, मध्य प्रदेश, दिल्ली, गुजरात, कर्नाटक और ​हरियाणा में कोरोना के नए मामलों में लगातार बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, बीते दिन 21 हजार से ज्यादा नए मामले सिर्फ इन्हीं 8 राज्यों में आए थे। पिछले 24 घंटे में यह देश में सामने आए कुल नए केस का 86.39 फीसद है।

देश में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। महाराष्ट्र, गुजरात, मप्र के बाद अब पंजाब में अपने पैर पसार रहा है। तेजी से बढ़ रहे मामलों की वजह से मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल और इंदौर में बुधवार से नाइट कर्फ्यू लगाने का फैसला किया गया है। मप्र में पिछले कुछ दिनों से रोजाना औसतन 600 से 700 मामले सामने आ रहे हैं। वहीं, गुजरात में अहमदाबाद, वडोदरा, सूरत और राजकोट में नाइट कर्फ्यू को 31 मार्च तक बढ़ा दिया गया है। हालांकि गुजरात के इन शहरों में पहले से ही नाइट कर्फ्यू लगा हुआ था, लेकिन इसका समय रात 12 बजे से सुबह 6 बजे तक था। वहीं पंजाब के रूपनगर जिले में आज रात 11:00 बजे से  सुबह 05:00 बजे तक रात्रि कर्फ्यू लगा दिया गया है। जो अगले आदेश तक मान्य रहेगा।

इस बीच महाराष्ट्र, तमिलनाडु, पंजाब, मध्य प्रदेश, दिल्ली, गुजरात, कर्नाटक और ​हरियाणा में कोरोना के नए मामलों में लगातार बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, बीते दिन 21 हजार से ज्यादा नए मामले सिर्फ इन्हीं 8 राज्यों में आए थे। पिछले 24 घंटे में यह देश में सामने आए कुल नए केस का 86.39 फीसद है।

मप्र में शिवराज सिंह चौहान ने लिए कड़े फैसले

मप्र में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। इस बीच शिवराज सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। शिवराज सिंह चौहान कैबिनेट ने भोपाल और इंदौर में फिर से नाइट कर्फ्यू का निर्णय लिया है। इसके साथ ही प्रदेश के 8 शहरों जबलपुर, ग्वालियर, उज्जैन, रतलाम, छिंदवाड़ा, बुरहानपुर, बैतूल और खरगोन में रात्रि 10 बजे के बाद बाजार बंद रहेगा। इन शहरों में कर्फ्यू जैसी स्थिति नहीं रहेगी लेकिन बाजार अनिवार्य रूप से बंद रहेगा । गौरतलब है कि एमपी में पिछले कुछ दिनों से कोरोना के नए केस लगातार बढ़ रहे हैं। सोमवार को पहली बार इस साल आठ सौ मरीज मिले थे। इंदौर में 267 और भोपाल में 199 मरीज मिले थे। उसके बाद शिवराज सरकार की चिंता बढ़ गई थी।

अहमदाबाद, वडोदरा, सूरत और राजकोट में नाइट कर्फ्यू 31 मार्च तक बढ़ाया

 देश में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। गुजरात सरकार ने मंगलवार को आदेश जारी कर अहमदाबाद, वडोदरा, सूरत और राजकोट में नाइट कर्फ्यू को 31 मार्च तक बढ़ा दिया गया। हालांकि गुजरात के इन शहरों में पहले से ही नाइट क‌र्फ्यू लगा हुआ था, लेकिन इसका समय रात 12 बजे से सुबह 6 बजे तक था।

महाराष्ट्र के नागपुर में लॉकडाउन

कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण महाराष्ट्र के नागपुर में एक बार फिर लॉकडाउन लगा दिया गया है। पिछले साल 25 मार्च को देश भर में लॉकडाउन लगा था। अब ठीक एक साल होने में जब 10 दिन बचे थे, तभी नागपुर देश का पहला शहर बन गया, जहां पूरी तरह से एक हफ्ते के लिए लॉकडाउन लगाया गया है। नागपुर में पिछले दो दिन से लगातार 2 हजार से ज्यादा कोरोना के मामले आ रहे हैं। संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए शहर में 15 मार्च से 21 मार्च तक फिर से लॉकडाउन लगा दिया गया है। किराना, दूध, फल और सब्जी की दुकानों को छोड़कर सभी चीजें बंद हैं। लॉकडाउन का पहला दिन होने के कारण नागपुर की सड़कों पर पुलिस मुस्तैद नजर आई। ज्यादातर लोग घरों में थे और जो बाहर भी थे उन्होंने अपने चेहरे पर मास्क लगाया था।

सोमवार को 24,437 पॉजिटिव मिले

देश में फिर एक बार 20 हजार से ज्यादा कोरोना संक्रमित मिले हैं। सोमवार को 24,437 मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई, 20,186 ठीक हुए और 130 की मौत हो गई। इस महीने 15 दिन में 2 लाख 97 हजार 539 नए मरीज मिले हैं। 2 लाख 41 हजार 63 मरीज ठीक हुए हैं, जबकि 1,698 मरीजों ने जान गंवाई।

अब तक 1.14 करोड़ से ज्यादा संक्रमित

देश में अब तक कुल 1 करोड़ 14 लाख 9 हजार 595 लोग इस महामारी की चपेट में आ चुके हैं। इनमें से 1 करोड़ 10 लाख 25 हजार 631 ठीक हुए हैं। 1 लाख 58 हजार 892 ने जान गंवाई है, जबकि 2 लाख 20 हजार 401 हजार का इलाज चल रहा है। 

टीकाकरण में रिकॉर्ड : एक दिन में 30 लाख लोगों को दी वैक्सीन

देश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच टीकाकरण के मोर्चे पर अच्छी खबर मिली है। टीकाकरण अभियान में दिन प्रति दिन तेजी आती जा रही है, जिसका नतीजा सोमवार को देखने को भी मिला जब एक दिन में रिकॉर्ड 30 लाख से अधिक लोगों को वैक्सीन की डोज की गई। केंद्र सरकार टीकाकरण को और तेज करने की कोशिश में है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को बताया कि सुबह सात बजे संकलित आंकड़ों के मुताबिक टीकाकरण अभियान के 59वें दिन 15 मार्च को 24 घंटे के दौरान 42,919 सत्रों में लाभार्थियों को टीके की 30,39,394 खुराकें दी गई। एक दिन में दी गई खुराक की यह सबसे बड़ी संख्या है। इनमें से 26,27,099 लाभार्थियों को टीके की पहली डोज और 4,12,295 स्वास्थ्यकर्मियों और फ्रंटलाइन वर्कर्स को दूसरी डोज दी गई। पहली डोज लेने वालों में 60 साल से अधिक उम्र के 19,77,175 और 45-60 साल की उम्र के गंभीर बीमारियों से ग्रस्त 4,24,713 व्यक्ति शामिल हैं।

ADVERTISEMENT