पीएम मोदी की मेगा ब्रिगेड रैली की सुरक्षा को लगे 1500 सीसीटीवी कैमरे, दस लाख से अधिक लोगों की जुटेगी भीड़

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) बंगाल चुनाव से पहले रविवार को कोलकाता के ब्रिगेड परेड ग्राउंड में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मेगा रैली के साथ अपनी ताकत दिखाने की तैयारी में है। मोदी की रैली से पहले कोलकाता पुलिस और केंद्रीय सुरक्षा एजेंसियों की ओर से शहर में कड़े सुरक्षा इंतजाम किए जा रहे हैं। सभा स्थल और उसके आस पास सुरक्षा के लिए 1500 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। यह रैली भाजपा की राज्यव्यापी 'परिवर्तन यात्रा' के समापन के मौके पर हो रही है।

इस यात्रा में राज्य के 294 विधानसभा क्षेत्रों को कवर किया गया है। सुरक्षा एजेंसियों ने प्रधानमंत्री के पोडियम के सामने चार-स्तरीय बैरिकेड्स लगाए हैं, जहां से प्रधानमंत्री मोदी सभा को संबोधित करेंगे। मुख्य मंच के साथ दो और छोटे मंच बनाए जा रहे हैं, जिनमें से एक स्थानीय नेताओं के लिए होगा और दूसरा मंच मीडियाकर्मियों के लिए होगा। मुख्य मंच के पीछे एक सेंट्रलाइज्ड कंट्रोल रूम बनाया जाएगा। भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पूरे मैदान को लकड़ी के लॉग (फट्टे और बल्ली) से जोड़ा जा रहा है।  इसके अलावा एहतियात के तौर पर हेस्टिंग्स, कैथेड्रल रोड, खिदिरपुर, एजेसी बोस रोड जैसे व्यस्त हिस्सों पर विशेष रूप से मालवाहक वाहनों पर और अन्य वाहनों की आवाजाही पर प्रतिबंध लगाया जाएगा।

पुलिस ने कहा कि 7 मार्च को रात 8 बजे से पहले किसी भी बाहरी मालवाही वाहनों को कोलकाता में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी जाएगी। पूरे सुरक्षा तंत्र की निगरानी कोलकाता पुलिस के साथ एसपीजी के अधिकारियों की ओर से की जा रही है। प्रधानमंत्री मोदी के निर्धारित आगमन से कुछ दिन पहले ही एसपीजी की एक टीम कोलकाता पहुंची है। रविवार को ब्रिगेड परेड ग्राउंड क्षेत्र के पास ट्राम की आवाजाही को भी बंद कर दिया जाएगा। इस सभा में भाजपा की ओर से दावा किया जा रहा है कि दस लाख से अधिक की भीड़ जुटेगी।

ADVERTISEMENT