किसने कहा-ममता को ठीक से बांग्ला भी बोलने नहीं आती


कोलकाताः
पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान बीजेपी और तृणमूल कांग्रेस के बीच घमासान तेज हो गया है। मुख्यमंत्री और टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के टेलीप्रॉम्प्टर से बंगाली पढ़ने के बयान पर पश्चिम बंगाल के बीजेपी अध्यक्ष दिलीप घोष ने पलटवार किया है। दिलीप घोष ने कहा कि ममता बनर्जी बांग्ला, हिंदी और अंग्रेजी ठीक से नहीं बोलती हैं। वे दिल्ली में भी मंत्री रही हैं, फिर भी उन्हें हिंदी नहीं आती। वे घटिया बंगाली बोलती हैं और हम शर्मिंदा होते हैं।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की ओर से बंगाल में पीएम मोदी का चेहरा पसंद नहीं है वाले बयान पर भी बीजेपी नेता दिलीप घोष ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है। ममता पर हमला बोलते हुए घोष ने कहा कि पीएम मोदी के चेहरे से वोट हुआ, तो उनका यह हाल हुआ। उनका चेहरा (ममता बनर्जी) आजकल धूमिल हो गया है। इतना भ्रष्टाचार, कोल माफिया, गाय तस्करी। चोरियां उनके पार्टी के लोग उनकी देखरेख में कर रहे हैं।

ममता ने मोदी पर किया था हमला

दरअसल पश्चिम बंगाल के ईस्ट मिदनापुर जिले में एक रैली के दौरान ममता बनर्जी ने बीजेपी और पीएम नरेंद्र मोदी पर जुबानी हमला बोला। ममता ने सभा में कहा कि बीजेपी को विदाई देना होगा। हम लोग बीजेपी को नहीं चाहते। हम मोदी का चेहरा नहीं देखना चाहते। हमें यहां दुर्योधन, दुशासन, मीर जाफर, दंगे और लूट नहीं चाहिए।

पुरुलिया में मोदी बोले

गुरुवार को पुरुलिया की सभा में पीएम मोदी ने ममता के 'खेला होबे' वाले बयान पर अपने अंदाज में पलटवार किया था। ममता को ललकारते हुए पीएम मोदी ने उनके नारे खेला होबे की खिंचाई करते हुए कहा, 'दीदी बोले खेला होबे लेकिन बीजेपी बोले विकास होबे, चाकरी होबे, शिक्षा होबे, महिला उत्‍थान होबे, युवा शक्ति संपन्‍न विकास होबे। मोदी ने कहा कि दीदी पुरुलिया की जनता जवाब मांग रही है, अपने काम का हिसाब दीजिए।'