बिजली नहीं, पानी नहीं... भीषण ठंड से जूझ रहा अमेरिका, 1 करोड़ लोगों को बचने का संकट

अमेरिका के टेक्सास और मेक्सिको में खतरनाक बर्फीले तूफान ने हालात गंभीर बना दिए हैं। लगातार हो रही बर्फबारी के बीच अब तक 21 लोगों की मौत हो गई है। 44 लाख से ज्यादा आबादी अकेले टेक्सास में बिना बिजली के घरों में बंद हैं। टेक्सास में 100 से अधिक काउंटी में बिजली और पानी की आपूर्ति बुरी तरह से प्रभावित है। लोगों को पानी उबालकर पीने को कहा गया है।यहां 200 से ज्यादा रास्ते अवरूद्ध हो गए हैं। इन क्षेत्रों में वैक्सीनेशन सेंटर भी बंद कर दिए गए हैं। बुजुर्गो की जान बचाने के लिए नेशनल गा‌र्ड्स तैनात किए गए हैं। टेक्सास और ह्यूस्टन में हवाई सेवाएं बंद कर दी गई हैं।

अमेरिका की एक करोड़ से ज्यादा आबादी बर्फ में ठिठुर रही है। टेक्सास में लगातार बर्फीले तूफान के कारण बिजली के उत्पादन पर बुरी तरह असर पड़ा है। स्टेट पॉवर ग्रिड में लगातार खराबी आ रही है। यहां पर गैस और तेल की पाइपलाइन जम गई हैं। आठ हजार से ज्यादा वैक्सीन डोज बिजली की आपूर्ति न होने के कारण खराब हो गईं।

टेक्सास, लुसियाना, केंटकी और मिसौरी में अभी तक 21 लोगों की मौत हो चुकी है। एक परिवार कार में गर्मी पाने की कोशिश में गैराज में ही मृत मिला। एक अन्य घटना में आग में तापने की कोशिश में घर में आग लग गई। मौसम लगातार खराब बना हुआ है। मिसिसिपी और मिनेसोटा में भी यही स्थिति बनी हुई है। मौसम विभाग ने टेक्सास, अरकंसास और मिसिसिपी में फिर तूफान की चेतावनी दी है।

राष्ट्रपति जो बाइडन ने बयान जारी करते हुए कहा है कि वे मुश्किल से गुजर रहे राज्यों की पूरी मदद करेंगे। बर्फीले तूफान के कारण ओहियो से लेकर रियो ग्रेंडे तक पूरा क्षेत्र बर्फ की चादर में ढक गया है। लिंकन और नेबरास्का शहर का तापमान माइनस 31 डिग्री से भी नीचे चला गया है।

टेक्सास के साथ ही मेक्सिको में भी स्थिति ठीक नहीं है। यहां उत्तरी मेक्सिको में एक दिन में ही फैक्टि्रयों में ब्लैकआउट होने के कारण 2.7 बिलियन डॉलर (करीब 19 हजार करोड़ से ज्यादा) का नुकसान हो गया है। तूफान ने उद्योग-धंधों को सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचाया है। उत्पादन करने वाली फैक्टि्रयों की संस्था इंडेक्स ने कहा है कि 26 सौ उद्योग तूफान से प्रभावित हैं।

ADVERTISEMENT