जम्मू-कश्मीर को लेकर अमेरिका की नीति में कोई बदलाव नहीं, 4जी इंटरनेट बहाली का किया स्वागत

अमेरिका ने बुधवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर पर उसकी नीति में कोई बदलाव नहीं हुआ है। इसके साथ ही अमेरिका ने जम्मू कश्मीर में 4जी मोबाइल इंटरनेट बहाल किए जाने के भारत के फैसले का स्वागत किया है। अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नेड प्राइस(Ned Price) ने संवाददाताओं से कहा कि मैं स्पष्ट चाहता हूं कि इस क्षेत्र में अमेरिकी नीति में कोई बदलाव नहीं हुआ है।

अमेरिकी विदेश विभाग के दक्षिण और मध्य एशिया ब्यूरो ने ट्वीट किया कि हम भारत के जम्मू और कश्मीर में 4जी मोबाइल इंटरनेट के फिर से शुरू करने का स्वागत करते हैं। यह स्थानीय निवासियों के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है और हम जम्मू-कश्मीर में सामान्य स्थिति बहाल करने के लिए निरंतर राजनीतिक और आर्थिक प्रगति के लिए तत्पर हैं।

जम्मू-कश्मीर के पूरे केंद्र शासित प्रदेश में 5 फरवरी को हाई-स्पीड मोबाइल इंटरनेट बहाल किया गया था, इसके ठीक डेढ़ साल बाद अगस्त 2019 में जब केंद्र ने तत्कालीन राज्य के विशेष दर्जे को रद्द कर दिया था।

सीआरएम रिपोर्ट में कहा गया है कि अगस्त 2019 की 2019 की कांग्रेसनल रिसर्च सर्विस की रिपोर्ट के अनुसार, दक्षिण एशिया में अमेरिकी नीति का एक लंबा लक्ष्य भारत-पाकिस्तान संघर्ष को अंतरराज्यीय युद्ध में आगे बढ़ने से रोकना रहा है। इसका मतलब यह है कि संयुक्त राज्य अमेरिका ने उन कार्यों से बचने की मांग की है जो पार्टी के पक्ष में थे। पिछले एक दशक में वाशिंगटन ने भारत के साथ नजदीकी बढ़ाई है, जबकि पाकिस्तान के साथ संबंधों को अविश्वास के रूप में देखा जा रहा है।

ADVERTISEMENT