कोविशील्ड वैक्सीन की पहली खेप सीरम इंस्टीट्यूट से रवाना, प्लेन से देशभर में पहुंचाई जाएगी

देश में 16 जनवरी से कोविड-19 टीकाकरण अभियान शुरू होगा. पहले चरण में लगभग 3 करोड़ लोगों को कोरोना का टीका लगाया जाएगा. इस देखते हुए देश के अलग अलग शहरों में कोरोना वैक्सीन की डोज भेजी जा रही है. सोमवार से ही कोरोना वैक्सीन की डिलीवरी का काम शुरू हो गया है. 

पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया से ट्रक और विमान के जरिए विशेष फ्रीजर में कोविशील्ड वैक्सीन की डोज भेजी जा रही है.

आज सुबह सीरम इंस्टीट्यूट से कोविशील्ड वैक्सीन के बॉक्स को पुणे एयरपोर्ट ले जाने के लिए तीन कंटेनर ट्रकों को बुलाया गया. इन ट्रकों में वैक्सीन को तीन डिग्री तापमान में रखकर पुणे एयरपोर्ट पहुंचाया गया, जहां से कुल 8 उड़ानें कोविशील्ड वैक्सीन को 13 विभिन्न स्थानों पर ले जाएंगी.

पहली फ्लाइट दिल्ली एयरपोर्ट के लिए सुबह 8 बजकर 11 मिनट पर रवाना हुई. दिल्ली से वैक्सीन को देश के अलग-अलग हिस्सों में भेजा जाएगा. 

आने वाले कुछ दिनों में 5 और कंटेनर ट्रकों के जरिए गुजरात, एमपी और हरियाणा में कोविशील्ड वैक्सीन की सप्लाई की जाएगी. बता दें कि पहले चरण में भारत सरकार ने SII को 1 करोड़ 11 लाख डोज का ऑर्डर दिया है. जिसकी सप्लाई सोमवार से शुरू हो गई है. वैक्सीन से लदे कंटेनर व्यापक पुलिस सुरक्षा के बीच सीरम इंस्टीट्यूट से रवाना हुए.

बताया जा रहा है कि इस काम में जीपीएस सुविधा से लैस 300 कंटेनर ट्रकों को लगाया गया है. जरूरत पड़ने पर 500 और ट्रकों का इस्तेमाल किया जाएगा. 

मालूम हो कि 16 जनवरी से शुरू हो रहे कोविड-19 टीकाकरण अभियान के पहले पीएम मोदी ने सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बातचीत की. उन्होंने कहा कि भारत का लक्ष्य अगले कुछ महीनों में 30 करोड़ लोगों को टीका लगाना है. गौरतलब है कि टीकाकरण पिछले तीन-चार हफ्तों से कई देशों में चल रहा है और अब तक केवल ढाई करोड़ लोगों को टीके लगाए जा सके हैं. 

ADVERTISEMENT