Union Budget 2021: बजट में रेलवे इन योजनाओं को आगे बढ़ाने पर दे सकता है जोर, ये प्रमुख मांगे हो सकती हैं शामिल

 

देश का आम बजट वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 1 फरवरी को पेश करेंगी। अब आम बजट में ही रेल बजट शामिल होता है और रेल बजट से जुड़ी घोषणा भी उसी दिन होती है। इस बजट में भारतीय रेलवे देश भर में कई विश्व स्तरीय रेलवे स्टेशनों पर काम करने से संबंधित घोषणा हो सकती है! केंद्रीय बजट 2021 में रेलवे के बुनियादी ढांचे को बढ़ावा देने की उम्मीद है। COVID-19 महामारी के कारण रेलवे को भारी नुकसान हुआ। कोरोनावायरस संकट के बावजूद, भारतीय रेलवे ने कई विशेष ट्रेनों की शुरुआत करके यात्रियों को सुविधा देना जारी रखा, साथ ही महामारी के दौरान स्टेशन पुनर्विकास परियोजना पर काम जारी रहा। इंडियन रेलवे स्टेशन डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन (IRSDC) देश के पहले दो हवाई अड्डे जैसे विश्व-स्तरीय रेलवे स्टेशन- हबीबगंज और गांधीनगर स्टेशनों के पुनर्विकास पर काम कर रहा है।

हबीबगंज स्टेशन प्रवेश द्वार पर फूड कैफेटेरिया के साथ-साथ एयरपोर्ट जैसे रिटेल आउटलेट्स के साथ कई सुविधाजनक योजना की घोषणा हो सकती है। भोपाल के हबीबगंज स्टेशन में एक आलीशान प्रतीक्षालय और आधुनिक शौचालय होंगे। इसके अलावा स्टेशन में एक संग्रहालय, गेमिंग जोन के साथ विश्व स्तर के अंदरूनी भाग होंगे। स्टेशन में एक 'ग्रीन बिल्डिंग' होगी और एलईडी लाइटिंग का काम होगा। जर्मनी के हीडलबर्ग स्टेशन की तर्ज पर पुनर्जीवित हो रहे हबीबगंज स्टेशन के पुनर्विकास के लिए आईआरएसडीसी बंसल समूह के साथ पीपीपी मॉडल पर परियोजना को लागू कर रहा है।

स्टेज 1 के तहत कुछ सेवाएं जनवरी 2021 तक खुलने की संभावना है, जबकि बाकी सुविधाओं को मार्च 2021 तक जनता के लिए खोल दिया जाएगा। स्टेज 1 के तहत, यात्री यातायात, प्रवेश/ निकास, लिफ्ट, बुनियादी सुविधाएं, एस्केलेटर का एक सेट खुला रहेगा। जबकि अन्य फीचर्स जैसे सीसीटीवी, पैसेंजर एड्रेस सिस्टम, एसी आदि मार्च के महीने तक तैयार हो जाएंगे।

इस बजट में रेलवे से जुड़ी परियोजनाओं को आगे बढ़ाने पर जोर हो सकता है। गांधीनगर स्टेशन एक बार पुनर्विकास करने के बाद खुदरा दुकानों के साथ-साथ खाने के लिए कॉनकोर्स बना सकता है। इसमें एक ट्रांजिट हॉल होगा जिसमें कुल 600 यात्रियों के बैठने की क्षमता होगी। यह परियोजना गांधीनगर रेलवे और शहरी विकास निगम, आईआरएसडीसी और गुजरात सरकार द्वारा गठित एक विशेष प्रयोजन वाहन (एसपीवी) द्वारा पूरी की जा रही है। नई दिल्ली रेलवे स्टेशन (NDLS) के लिए 6,500 करोड़ रुपये का पूंजीगत व्यय होने का अनुमान है।

इन स्टेशनों के अलावा, आने वाले महीनों में सूरत, बिजवासन, चंडीगढ़, आनंद विहार, अमृतसर, ग्वालियर, कानपुर, साबरमती स्टेशनों आदि सहित कई अन्य रेलवे स्टेशनों का पुनर्विकास किया जाना है। बजट में रेलवे स्टेशन के विकास को लेकर घोषणा हो सकती है।

ADVERTISEMENT