Chhath Puja Corona Guideline: छठ में रखें कोरोना से बचाव का भी ध्‍यान, जानिए क्‍या है सावधानी की गाइडलाइन

Chhath Puja Coronavirus Guidelines in Bihar  कोरोना संक्रमण (CoronaVirus Infection) के काल में छठ महापर्व के साथ अपने स्‍वास्‍थ्‍य का ध्‍यान रखना भी जरूरी है। जरा सी लारवाही कोरोना संक्रमण का कारण बन सकती है। इसलिए बिहार सरकार (Bihar Government) ने बचाव के लिए गाइडलाइन (Corona Guideline) जारी कर दी है। गृह विभाग (Department of Home) की इस गाइडलाइन के अनुसार प्रशासन ने नदी घाटों से लेकर सड़कों तक ऐहतियाती उपाय किए हैं। सरकार ने घर पर ही छठ मनाने की अपील की है। हालांकि, घाटों पर जाने पर पाबंदी भी नहीं लगाई है। मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) ने भी अपने कोरोना से बचने के लिए ऐहतियात बरतने की सलाह दी है।

नदी घाटों पर जाने के लिए लागू किए गए कुछ प्रतिबंध

सरकार की गाइडलाइन के अनुसार कोरोना संक्रमण के मद्देनजर घर पर ही छठ पर्व मनाने की सलाह दी गई है। हालांकि, कुछ प्रतिबंधों के साथ घाटों पर जाने की भी अनुमति दी जाएगी। नदी घाटों पर श्रद्धालुओं को वाहनों से जाने की अनुमति नहीं है। वहां पार्किंग की व्‍यवस्‍था नहीं की गई है। बीमार या 60 साल से अधिक व 10 साल से कम उम्र के लोगों को नदी घाटों पर नहीं जाना है। अर्घ्‍य (Arghya) के दौरान पानी में डुबकी भी नहीं लगानी है।

लोगों को दी जा रही कोरोना गाइडलाइन की जानकारी

छठ को लेकर गृह विभाग ने राज्‍य के सभी जिलाधिकारियों (DMs) को गाइडलाइन भेज कर इसका अनुपालन सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है। छठ को लेकर स्वास्थ्य विभाग (Deapartment of Health) व सुरक्षा बल गाइडलाइन के अनुसार व्‍यवस्‍था सुनिश्चित कराने में लग गए हैं। जनहित में आम लोगों को कोरोना गाइडलाइन की जानकारी भी दी जा रही है।

कोरोना गाइडलाइन के ये हैं प्रावधान, जानिए

कोशिश करें कि घरों पर ही मनाएं छठ, फिर भी अगर घाटों पर जाना है तो पूरी ऐहतियात बरतें। शारीरिक दूरी (Physical Distancing) का पालन करें तथा भीड़ नहीं लगाएं।

छठ घाटों के लिए घर से मास्क (Mask) लगा कर निकलें। घाटों पर मास्‍क का प्रयोग अनवार्य है।

घाटों पर वाहनों से नहीं जाएं। 60 साल से ऊपर के बुजुर्गों एवं 10 साल से कम उम्र के बच्चों को घाटों पर नहीं जाना है। सर्दी-खांसी व बुखार से ग्रस्‍त तथा गंभीर रूप से बीमार लोग भी नदी घाटों पर नहीं जाएं।

छठ के दौरान गहरे पानी में नहीं जाएं तथा अर्घ्‍य के दौरान पानी में डुबकी भी नहीं लगाएं।


ADVERTISEMENT