IMF का अनुमान-इस साल चरमराएगी इकोनॉमी, लेकिन 2021 में चीन को पछाड़ देगा भारत

भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था के लिए चालू वित्‍त वर्ष ठीक नहीं है. हालांकि, साल 2021 में सबकुछ ठीक होने की उम्‍मीद है. ये बातें अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के नए अनुमान से निकल कर सामने आई हैं. आपको यहां बता दें क‍ि पिछले सप्ताह विश्व बैंक ने कहा था कि भारत की जीडीपी इस वित्त वर्ष में 9.6 प्रतिशत घटेगी. इसके अलावा मूडीज समेत अन्‍य कई बड़ी रेटिंग एजेंसियां पहले से ही जीडीपी में गिरावट की आशंका जाहिर कर रही हैं. 

10.3 प्रतिशत की बड़ी गिरावट

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के मुताबिक कोरोना वायरस से बुरी तरह प्रभावित भारतीय अर्थव्यवस्था में इस वर्ष के दौरान 10.3 प्रतिशत की बड़ी गिरावट आने का अनुमान है.  हालांकि, इसके साथ ही आईएमएफ ने कहा है कि 2021 में भारतीय अर्थव्यवस्था में संभवत: 8.8 प्रतिशत की जोरदार बढ़त दर्ज की जाएगी.

वह चीन को पीछे छोड़ते हुए तेजी से बढ़ने वाली उभरती अर्थव्यवस्था का दर्जा फिर से हासिल कर लेगी. आईएमएफ के मुताबिक चीन के 2021 में 8.2 प्रतिशत वृद्धि हासिल करने का अनुमान है. आईएमएफ ने अपनी ताजा रिपोर्ट में कहा है कि जीडीपी ग्रोथ अनुमान में संशोधन भारत के मामले में बड़ा है.आपको बता दें कि बीते वित्‍त वर्ष में भारत की आर्थिक वृद्धि दर 4.2 प्रतिशत रही थी.  

विश्व अर्थव्यवस्था में 4.4 प्रतिशत की गिरावट 

आईएमएफ की ताजा रिपोर्ट में बताया गया है कि चालू वित्‍त वर्ष के दौरान विश्व अर्थव्यवस्था में 4.4 प्रतिशत की गिरावट आ सकती है. वहीं, 2021 में 5.2 प्रतिशत की जोरदार वृद्धि के साथ आगे बढ़ने का अनुमान है. आईएमएफ की रिपोर्ट में कहा गया है कि वर्ष 2020 के दौरान दुनिया की प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में केवल चीन ही एकमात्र देश होगा जिसमें 1.9 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की जाएगी.  


ADVERTISEMENT