दीघा में बनेगा केबल लैंडिंग स्टेशन, JIO करेगा एक हजार करोड़ का निवेश


पूर्व मेदिनीपुर जिले के दीघा में केबल लैंडिंग स्टेशन (Cable landing station) बनाया जायेगा। इसके लिए जियो (JIO) की ओर से एक हजार करोड़ रुपये का निवेश किया जायेगा। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने बुधवार को राज्य कैबिनेट की बैठक के बाद इसकी जानकारी दी। मुख्यमंत्री ने बताया कि इस संबंध में कैबिनेट में फैसला लिया गया है। राज्य सरकार इस परियोजना के लिए जियो को जमीन उपलब्ध कराएगी। उन्होंने बताया कि इसके अलावा यह भी फैसला लिया गया है कि ताजपुर पोर्ट का निर्माण अब खुद राज्य सरकार ही करेगी। 

 पूर्व में केंद्र सरकार के साथ मिल कर इस पोर्ट के निर्माण की योजना थी। लेकिन केंद्र सरकार इसमें पीछे हट गई। अब राज्य सरकार ने खुद ही इसके निर्माण का फैसला किया है। इसमें एक पार्टनर को भी लिया जायेगा। हालांकि पार्टनर कौन होगा, इस संबंध में अगले 10 सितंबर को होने वाली कैबिनेट की बैठक के बाद ही फैसला लिया जायेगा। मुख्यमंत्री ने यह भी बताया कि राज्य में सिलिकन वैली का भी निर्माण होगा। साथ ही वेस्ट बंगाल ग्रोथ बैंक पॉलिसी 2020 भी तैयार की जाएगी। इसके तहत सड़क, फ्रेट कॉरीडोर, रेल लाइन से सटे रास्तों आदि के आधारभूत ढांचे के विकास संबंधी नीति बनाई जायेगी।

इस दौरान राज्य के मुख्य सचिव राजीव सिन्हा ने दीघा में बनने वाले केबल लैंडिंग स्टेशन के बारे में विस्तार से बताते हुए कहा कि वर्तमान वैश्विक परिस्थिति में डेटा प्रोसेसिंग की काबलियत सर्वाधिक मायने रखती है। डेटा लाइन समुद्र के रास्ते से आती है। जिस स्थल पर वह मिलती है वहां डेटा लैंडिंग स्टेशन बनता है। यह दीघा में बनेगा।इसकी वजह से कई कंपनियां राज्य में अपना डेटा सेंटर बनायेंगी। यह पूर्वी क्षेत्र व सिंगापुर मलेशिया आदि देशों के लिए संपर्क का हब भी बन जायेगा। इससे बड़ी तादाद में रोजगार का सृजन हो सकेगा। उन्होंने कहा कि जियो ने डेटा लैंडिंग स्टेशन के लिए नीलामी में हिस्सा लिया था और उसे यह ठेका मिला है।

ADVERTISEMENT