हुगली से कोलकाता के फेयरली प्लेस तक शुरू होगी लांच सेवा, परिवहन विभाग ने लांच निर्माण का दिया ऑर्डर


राज्य के परिवहन विभाग की ओर से हुगली जिले के चंदननगर से कोलकाता के फेयरली प्लेस घाट तक जल्द ही लांच सेवा शुरू की जाएगी। राज्य परिवहन योजना के इस हिस्से के रूप में तेज गति से चलने वाली एक जोड़ी लांच के निर्माण के ऑर्डर दे दिए गए हैं। इसकी लागत 6 करोड़ रुपए आएगी। चंदननगर जैसे उपनगरीय इलाकों से आने वाले यात्रियों का एक वर्ग ट्रेन की भीड़ के बजाय गंगा की हवा का आनंद लेते हुए आ सकते हैं।

योजना के अनुसार नदी के रास्ते चंदननगर से यात्रा शुरू करते हुए लांच शेवड़ाफुली, बैरकपुर, बरानगर से होते हुए फेयरली प्लेस तक जाएगी। विश्व बैंक की मंजूरी के साथ राज्य परिवहन विभाग ने कुल 6 करोड़ की लागत से दो यात्री लांच के निर्माण की अनुमति दी है। परिवहन अधिकारियों के अनुसार कुल 250 सीटों वाली लांच प्रतिदिन चलेगी।

विभाग के सूत्रों के अनुसार यात्रा में एक-डेढ़ घंटे तक का समय लगेगा और यात्री चंदननगर से फेयरली पहुंच जाएंगे। अगर यात्री बढ़ेंगे तो भविष्य में इस तरह से गंगा के दूसरे घाटों में लांच शुरू करने की योजना बनाई जाएगी। मालूम हो कि महानगर सहित राज्यभर में लॉकडाउन के कारण सरकारी निजी बसों सहित अधिकांश परिवहन सेवाएं बंद पड़ी हैं। ऐसे में चंदननगर से फेयरलीप्लेस जैसी सेवा कारगर सिद्ध होगी। 

हाल ही में एक निजी कंपनी ने कोलकाता से गंगासागर तक के जलमार्गों पर लांच का संचालन शुरू किया था। दूसरी ओर, लोकल ट्रेनों के बंद होने के कारण उपनगरों के कई यात्री अब कोलकाता नहीं आ पा रहे हैं। इस स्थिति का लाभ उठाने के लिए कंपनी ने राज्य परिवहन विभाग के परामर्श से चंदननगर से फेयरली प्लेस तक यात्रियों को जलमार्ग से पहुंचाना शुरू किया। 

कोलकाता में कागज कारखाने में लगी आग, 4 दुकानें जलीं

कोलकाता महानगर के नारकेलडांगा इलाके में सोमवार देर रात कागज के एक कारखाने में आग लग गई। खबर पाकर दमकल की 10 इंजनों को वहां भेजा गया, जिसके बाद करीब 2 घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया। आग से भारी नुकसान की खबर है और पड़ोस की चार दुकानें भी जल गई। आसपास के लोगों ने बताया कि देर रात करीब 1:30 बजे के करीब नारकेलडांगा मेन रोड में स्थित कारखाने के अंदर से धुआं निकलते देखा गया। इसके बाद तुरंत दमकल विभाग व नारकेलडांगा थाने को इसकी खबर दी गई। जब तक दमकल के इंजनों के साथ दमकल कर्मी वहां पहुंचकर आग पर काबू पाने की कोशिश करते तब तक आग आसपास की 4 दुकानों में भी फैल चुकी थी।

लोगों का कहना है कि समय पर अगर दमकल कर्मी वहां नहीं पहुंचते तो आग और भी विकराल रूप ले सकती थी। 2 घंटे की मशक्कत के बाद आग पर पूरी तरह से काबू पा लिया गया। इस आग में किसी के घायल होने की खबर नहीं है। कारखाने में आग का प्राथमिक कारण शार्ट सर्किट बताया जा रहा है। दमकल अधिकारियों का कहना है कि कागज का कारखाना होने के कारण अंदर अग्निशमन उपकरणों को रखा गया था या नहीं इसकी जांच की जा रही है।

ADVERTISEMENT