West Bengal :बैंककर्मियों के कोरोना संक्रमित होने पर बैंकिंग ऑफिसर्स फेडरेशन ने जताई चिंता


बैंक कर्मियों के कोरोना संक्रमित होने के बढ़ते मामलों पर उनके संगठन ने चिंता जाहिर की है। गौरतलब है कि कोलकाता में कई बैंककर्मी सेवाएं प्रदान करते हुए कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। ऑल इंडिया बैंकिंग ऑफिसर्स कांफेडरेशन इसे लेकर खासा परेशान है। उसे अपने उन कर्मियों की सबसे ज्यादा चिंता सता रही है, जो कंटेनमेंट जोन में सेवाएं प्रदान कर रहे हैं।

कांफेडरेशन का आरोप है कि विभिन्न बैंकों की शाखाओं और एटीएम को सैनिटाइज नहीं किया जा रहा है, जिसके कारण बैंककर्मियों के संक्रमित होने के मामले दिन-ब-दिन बढ़ते जा रहे हैं। कोरोना संक्रमण के कारण कोलकाता में अब तक कई बैंक शाखाओं को बंद कर दिया गया है। कांफेडरेशन से जुड़े संजय दास ने कहा-'महानगर के एटीएम कोरोना के हॉटस्पॉट बनते जा रहे हैं। उन्हें सैनिटाइज नहीं किया जा रहा है। एटीएम में कौन लोग आ रहे हैं, वे कोरोना संक्रमित हैं या नहीं, इसका पता लगाना बहुत मुश्किल है।

गौरतलब है कि कई बैंकों के चेस्ट रूम बंद किया जा चुका है, जिसके कारण उन बैंकों की कई शाखाओं में रुपए भेज पाना मुश्किल हो रहा है। कांफेडरेशन कंटेनमेंट जोन में बैंकिंग सेवाओं का समय कम करने की भी मांग कर चुका है। बैंकिंग सेवाओं का समय सुबह 10 बजे से दोपहर दो बजे तक करने की मांग की गई है।

कांफेडरेशन के राष्ट्रीय महासचिव सौम्य दत्ता ने कहा कि बैंकों में आने वाले बहुत से लोग कोरोना संक्रमित हो सकते हैं।उन्हें चिन्हित कर पाना मुश्किल है। इसे लेकर बैंककर्मी आतंकित हैं। अभी कृषि और एमएसएमइ लोन आवंटित करने का समय है इसलिए हम यह नहीं कह रहे कि काम नहीं करना चाहते लेकिन बैंक कर्मचारियों की सुरक्षा भी जरूरी है।' 

ADVERTISEMENT