बंगाल में बीजेपी विधायक की मौत का मामलाः CID ने हत्या की धाराओं में दर्ज किया केस


कोलकाता: पश्चिम बंगाल में बीजेपी नेता की मौत के मामले में सीआईडी ने हत्या का केस दर्ज कर लिया है। हत्या का केस बीजेपी विधायक की पत्नी की तहरीर के आधार पर उन दो लोगों के खिलाफ दर्ज किया गया है जिनका नाम सूइसाइड नोट में लिखा था।

सीआईडी ने बीजेपी नेता देवेंद्रनाथ रे की मौत मामले में एक व्यक्ति को मालदा जिले से हिरासत में लिया है। बीजेपी नेता ने अपने सूइसाइड नोट में इस शख्‍स का जिक्र किया था। देवेंद्रनाथ रे की हत्‍या के सिलसिले में हिरासत में लिए गए व्‍यक्ति के बारे में एक वरिष्‍ठ अधिकारी ने बताया कि आरोपी को पहले स्‍थानीय पुलिस ने इंग्लिश बाजार में हिरासत में लिया उसके बाद उसे सीआईडी को सौंपा गया। उससे पूछताछ की जा रही हैं, हालांकि उसने इस हत्‍या में हाथ होने से इनकार किया है। हेमताबाद विधायक ने अपने सूइसाइड नोट में दो लोगों के नाम का जिक्र किया था। अधिकारी ने कहा कि दूसरे व्यक्ति की तलाश की जा रही है।

घर के पास बाजार में लटका मिला था शव
सीपीआई से बीजेपी में आए देवेंद्रनाथ रे का शव सोमवार को उत्तर दिनाजपुर जिले के बिंदाल गांव में उनके घर के पास एक बाजार में लटका मिला था। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में कहा गया है कि मौत फांसी के कारण हुई। किसी अन्य चोट का निशान नहीं मिला। पश्चिम बंगाल पुलिस ने कहा कि उनकी कमीज की जेब से एक सुसाइड नोट मिला जिसमें उन्होंने दो लोगों को उनकी मौत के लिए जिम्मेदार ठहराया।

बीजेपी ने की सीबीआई जांच की मांग
वही बीजेपी ने कहा है कि उन्हें विधायक के पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट पर भरोसा नहीं है जिसमें कहा कि विधायक की मौत फंदे पर झूलने की वजह से हुई और उनके शरीर पर चोट का कोई निशान नहीं है। बीजेपी के राष्ट्रीय सचिव राहुल सिन्हा ने मामले की सीबीआई जांच कराने की मांग करते हुए कहा कि पुलिस और प्रशासन हत्या को आत्महत्या दिखाने का प्रयास कर रहा है। सिन्हा ने कहा कि राज्य पुलिस और प्रशासन इस मामले पर लिपापोती करना चाहते हैं। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में हत्या को आत्महत्या बताया गया है। हमें इस रिपोर्ट पर कोई भरोसा नहीं है।

ADVERTISEMENT