बंगाल में शवों से बर्बरता मामले पर भड़कें विजयवर्गीय, कहा- ममता की संवेदनहीनता से दुनिया में खराब हुई है देश की छवि


भाजपा के महासचिव व प्रदेश भाजपा के केंद्रीय प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) ने शवों को हुक से खींचने वाले वायरल वीडियो को लेकर ममता सरकार (Mamata government) को कटघरे में खड़ा किया है और पूरे विश्व में भारत की छवि को खराब करने का आरोप लगाया है.

श्री विजयवर्गीय ने कहा कि ऐसा अमानवीय दृश्य हमारे देश में देखने मिलेगा. यह सोचा भी नहीं जा सकता है. यह वीडियो पूरी दुनिया में वायरल हो रहा है. ममता जी के संवेदनहीनता होने के कारण भारत की छवि पूरे विश्व में खराब हो रही है. उल्लेखनीय है कि शवों को हुक से खींचने के मामले ने राजनीतिक तूल पकड़ने लगा है. इस मामले में राज्यपाल ने भी निगम को तलब किया है.

उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल (West Bengal) में अमानवीयता की हद हो गयी है. किसी भी सभ्य समाज में पार्थिक शरीर के साथ ऐसा दुर्व्यवहार नहीं होता है, लेकिन बंगाल जो पूरे देश में अपनी संस्कृति के लिए जाना जाता है. वहां ममता जी के नेतृत्व में शवों को जिस तरह से घसीट कर ले जाया गया, वह हृदय विदारक और असहनीय है. क्या ऐसी मुख्यमंत्री को कुर्सी पर बने रहने का अधिकार है?

कोरोना मामले में मरीजों व मृतकों के साथ व्यवहार पर सर्वोच्च न्यायालय के जवाब- तलब पर श्री विजयवर्गीय ने कहा कि हम तो पहले से कहते आ रहे हैं कि कोरोना के प्रति बंगाल की सरकार संवेदनशून्य हैं. सही तरीके से इलाज नहीं करा पा रही है. शवों का डिस्पोजल जिस अमानवीय तरीके से किया है, उसे प्रदेश की जनता कभी आपको माफ नहीं करेगी.

ADVERTISEMENT