तेल लेकर जा रहे जलपोत से आखिर कहां लापता हुआ भारतीय मरीन


कोलकाता: सिंगापुर से कच्चा तेल लेकर दक्षिण कोरिया के बंदरगाह जा रहे एक पोत से एक भारतीय मरीन (Indian Marine) लापता हो गया है। यह जानकारी शनिवार को दी गई। संबंधित क्षेत्र में 20 साल से अधिक का अनुभव रखने वाले संबित मजूमदार लाइबेरियाई ध्वज वाले पोत ‘एमटी सेरेंगेती’ के ‘सेकंड इंजिनियर’ हैं। वह फरवरी के शुरू में अपने घर से ड्यूटी के लिए रवाना हुए थे। दक्षिणी कोलकाता में रह रहे उनके परिवारवालों को पोत कंपनी ने गुरुवार को इस घटना के बारे में जानकारी दी।

पारिवारिक सूत्रों ने बताया कि पोत कंपनी ने उनसे कहा कि मंगलवार की शाम तक सबकुछ ठीक था और मजूमदार ने आराम के लिए अपने कक्ष में जाने से पहले रात लगभग 8 बजे पोत पर चालक दल के अन्य सदस्यों के साथ भोजन किया। अगली सुबह वह नाश्ता करने नहीं पहुंचे और चालक दल के सदस्यों को वह अपने केबिन में नहीं मिले। मजूमदार के परिवार के एक सदस्य ने कहा, ‘अब तक कोई अच्छी खबर नहीं है। हमने मामले की गहन जांच के लिए प्रोटोकॉल के अनुरूप स्थानीय पुलिस सहित सभी सरकारी एजेंसियों को सूचना दे दी है।’ उन्होंने कहा, ‘हमें उनके लापता होने के पीछे किसी आपराधिक घटना का संदेह है।’ उनके परिवार ने यहां नेताजी नगर थाने में शिकायत दर्ज कराई है।

'यह बहुत रहस्यमयी है'
मजूमदार की पत्नी जयति ने कहा, ‘हमें इस बारे में कुछ नहीं पता कि संबित किस तरह लापता हुए और हमारे लिए यह बुहत रहस्यमयी है।’ पोत कंपनी ड्यानकॉम टैंकर्स मैनेजमेंट (डीटीएम) ने कहा कि लापता मरीन का पता लगाने के लिए उचित कदम उठाए गए हैं। हॉन्गकॉन्ग और फिलीपीन स्थित समुद्री राहत समन्वय केंद्रों को भी घटना के बारे में सूचित कर दिया गया है।

ADVERTISEMENT