आत्मनिर्भर भारत: कोल ब्लॉक की नीलामी प्रक्रिया आज से, PM मोदी करेंगे शुरुआत


आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत 41 कोल ब्लॉक्स की नीलामी की प्रक्रिया आज यानी गुरुवार से शुरू होने वाली है. इसकी शुरुआत पीएम नरेंद्र मोदी करेंगे. प्रधानमंत्री नीलामी प्रक्रिया शुरू होने के मौके पर आयोजित कार्यक्रम को वीडियो कांफ्रेन्स के जरिये संबोधित करेंगे और खनन क्षेत्र में आत्म-निर्भरता हासिल करने के अपने दृष्टिकोण को रखेंगे.

कार्यक्रम को फिक्की की अध्यक्ष संगीता रेड्डी, वेदांता समूह के चेयरमैन अनिल अग्रवाल, टाटा संस के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन भी संबोधित करेंगे. आपको बता दें कि सरकार ने पिछले महीने राजस्व हिस्सेदारी के आधार पर कॉमर्शियल माइनिंग के तौर-तरीकों को मंजूरी दी थी.

33 हजार करोड़ के निवेश का अनुमान

कोयला मंत्रालय के मुताबिक इन कोल ब्लॉक्स की कॉमर्शियल माइनिंग में अगले पांच से सात साल में करीब 33,000 करोड़ रुपये का निवेश अनुमानित है. ये ब्लॉक राज्य सरकारों को सालाना 20,000 करोड़ रुपये का राजस्व देंगे. मंत्रालय ने कहा कि कोयला खनन क्षेत्र में नीलामी प्रक्रिया की शुरुआत आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत की गयी घोषणाओं का हिस्सा है.

22.5 करोड़ टन उत्पादन की क्षमता

आपको बता दें कि कोयला मंत्रालय उद्योग मंडल फिक्की के साथ मिलकर 41 कोल माइंस की नीलामी की प्रक्रिया शुरू कर रहा है. ये खदान 22.5 करोड़ टन उत्पादन की क्षमता रखते हैं. इसके आधार पर सरकार का कहना है कि ये खदान देश में 2025-26 तक अनुमानित कुल कोयला उत्पादन में करीब 15 प्रतिशत का योगदान देंगे.

2 लाख से ज्यादा लोगों को रोजगार

इससे सीधे एवं परोक्ष रूप से 2.8 लाख से अधिक लोगों को रोजगार मिलने की संभावना है. इसमें सीधे तौर पर करीब 70,000 लोगों को रोजगाार मिलने की उम्मीद है. इस पहल का मकसद ऊर्जा जरूरतों को पूरा करने में आत्मनिर्भरता हासिल करना और औद्योगिक विकास को गति देना है.


ADVERTISEMENT