ममता सरकार ने पश्चिम बंगाल में 31 मई तक बढ़ाया लॉकडाउन, 21 के बाद खुल सकेंगे बड़े स्टोर


कोलकाता: पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार ने भी तेलंगाना, महाराष्ट्र, तमिलनाडु और पंजाब की तरह अपने राज्य में 31 मई तक लॉकडाउन बढ़ा दिया है। ममता सरकार की ओर से सोमवार को इस संबंध में एक विस्तृत गाइडलाइन जारी की गई है। सीएम ममता ने यह भी कहा है कि पश्चिम बंगाल में फिलहाल आधिकारिक रूप से रात को कर्फ्यू लगाने के आदेश नहीं हैं।

सीएम ममता बनर्जी ने सोमवार को इसकी जानकारी देते हुए कहा है कि पश्चिम बंगाल के कंटेनमेंट जोन में फिलहाल दुकानों को खुलने की इजाजत नहीं दी गई है। वहीं कंटेनमेंट जोन को छोड़कर शेष सभी इलाकों में बड़े स्टोर्स को 21 मई के बाद खोल दिया जाएगा। इसके अलावा नॉन कंटेनमेंट जोन में हॉकर्स को दुकान खोलने की इजाजत 27 मई के बाद दी जाएगी।

मई के आखिरी हफ्ते में मनाई जानी है ईद
ममता बनर्जी सरकार ने लॉकडाउन बढ़ाने का फैसला उस वक्त किया है, जबकि मई के आखिरी हफ्ते में देश भर में ईद का त्योहार मनाया जाना है। माना जा रहा है कि पश्चिम बंगाल के बाजारों में ईद के दिन भारी भीड़ ना हो, ऐसे में ममता सरकार ने हॉकर्स को 27 मई के बाद दुकान खोलने की इजाजत देने को कहा है।

कंटेनमेंट जोन में सब कैटिगरी बनाने का फैसला
ममता सरकार के नए फैसले के अनुसार, बंगाल में कंटेनमेंट जोन को भी तीन कैटिगरी में बांटा जाएगा। इसमें जोन-ए, जोन-बी, जोन सी और क्लीन जोन की कैटिगरी बनाई जाएगी। ममता सरकार ने यह भी कहा है कि लॉकडाउन 4 में बंगाल में सलून, होटलों और इंटर डिस्ट्रिक्ट बस की सेवाओं को भी शुरू कराया जाएगा। सलून और पार्लर खोले जा सकते हैं, लेकिन सभी उपकरण सैनिटाइज किए जाने चाहिए। ममता बनर्जी ने कहा कि प्राइवेट ऑफिस जो शॉपिंग मॉल के अंदर भी हैं, वो 50 फीसदी कर्मचारी के साथ काम कर सकते हैं। अंतर जिला बसों को 21 मई से परिचालन की अनुमति होगी। ऑटो रिक्शा 2 सवारियों के साथ 27 मई से चलाए जा सकते हैं।

ADVERTISEMENT