हावड़ा स्टेशन से शुरू हुई पांच रूटों की बस सेवा


हावड़ा : लॉकडाउन के 52 दिनों के बाद बुधवार से हावड़ा स्टेशन से पांच रूटों की बस सेवा शुरू कर दी गई। यहां से सी 26 हावड़ा- बारुईपुर, एस 5 और एस-7 हावड़ा से गड़िया, एस-12 हावड़ा से न्यू टाउन,एस12 डी हावड़ा से ठाकुरपुकुर व एस 24 हावड़ा से कमालगाजी के लिए 20- 20 यात्रियों के साथ किया रवाना किया गया। प्राप्त जानकारी के अनुसार इन बसों में वे लोग ही चढ़ सकते हैं जिनके पास पुख्ता कारण हो या जो सरकारी कार्यालय में कार्यरत है। साथ ही बसों से यात्रा करनेवाले लोगों के पहचान पत्र देखने के बाद ही उन्हें बस में बैठने की अनुमति दी जा रही है।

बुधवार को हावड़ा स्टेशन से खुलनेवाली इन बसों से यात्रा करनेवाले लोगों का सुबह से ही हावड़ा बस स्टैंड पर जमावड़ा हो गया था। इन पांच रूटों की सरकारी बसों से सिर्फ 20-20 यात्री ही सफर कर सकते हैं। हावड़ा से पांच रूटों सहित पूरे कोलकाता में 13 रूटों के सरकारी बसों को चलाने का आदेश राज्य परिवहन मंत्रालय ने दिया है। लेकिन इन सबों के बीच लोगों के बसों में सवार होते ही सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ी धज्जियां उड़ती देखी गई। लोग एक दूसरे से बहुत पास-पास बैठे थे। यहां तक कि आमने-सामने बैठनेवाले यात्रियों के बीच एक मीटर का भी फासला नहीं था। इस मुद्दे पर बात करने पर हावड़ा बस स्टैंड के एक भी अधिकारी ने मुंह नहीं खोला।

सबसे बड़ा सवाल है कि रास्ते में जो यात्री इन बसों का इंतजार करते मिलेंगे क्या उन्हें बस में स्थान दिया जायेगा। हालांकि इस प्रश्न पर एक बस चालक ने कहा कि रास्ते में उन्हें 70 फीसदी यात्री मिलते हैं लेकिन उन्हें नहीं चढ़ाया जा सकता। कई बार तो यात्री बस की गेट पर खड़े होकर भी यात्रा करना चाहते हैं। 

लॉकडाउन होने के बावजूद कई सरकारी कार्यालय तथा दूसरे संस्थान खुले हैं जहां जाना लोगों की मजदूरी है ऐसे में क्या ये बसें यात्रियों की अपेक्षाओं पर खरा उतरेंगी. इसका जवाब फिलहाल किसी के पास नहीं है।हावड़ा स्टेशन से शुरू हुई पांच रूटों की बस सेवा



ADVERTISEMENT