पूर्व रेलवे के आर्थोपेडिक अस्पताल में नहीं पहुंची पीपीई किट काम छोड़ डाक्टर, नर्स व कर्मचारी सड़क पर उतरे


हावड़ा : हावड़ा मैदान स्थित पूर्व रेलवे के आर्थोपेडिक अस्पताल में उस वक्त अफरा- तफरी की स्थिति उत्पन्न हो गई जब अस्पताल के सारे चिकित्सक, नर्स और कर्मचारी अपना काम छोड़ सड़क पर उतर गये। जानकारी लेने के पश्चात पता चला कि पूर्व रेलवे के इस अस्पताल को कोरोना वायरस के रोगियों के इलाज के लिए चुना गया है। और जिसके बाद अस्पताल के सारे रोगियों की या तो छुट्टी कर दी गई या उन्हें रेलवे के दूसरे अस्पतालों में भेज दिया गया है। सड़क पर उतरे नर्सों ने बताया कि इस अस्पताल को कोरोना रोगियों के चिन्हित करने के बाद यहां काम कर रहे किसी भी चिकित्सक या नर्स को किसी भी प्रकार की कोई सुरक्षा किट नहीं दी गई है औ न ही उन्हें कोई प्रशिक्षण दिया गया है जिसके कारण यहां काम करनेवाले सारे लोग चाहे वह डाक्टर हो या नर्स या कोई अन्य कर्मचारी सभी भयभीत है। आरोप है कि रेलवे की ओर से उन्हें  पीपीई किट यानी पर्सनल प्रोटेक्शन इक्विपमेंट्स भी नहीं दी गई है। पीपीई किट की मांग कर रहे प्रदर्शनकारियों का आरोप है कि अस्पताल के सारे उच्च अधिकारी अस्पताल से दूर किसी स्थान पर बैठ कर निगरानी कर रहे हैं और हमें काम करने के लिए मजबूर कर रहे हैं। 

कोरोना रोगी के पहुंचने की खबर से चिकित्सकों के हाथ-पांव फूले :

गुरुवार को जैसे ही हावड़ा मैदान स्थित पूर्व रेलवे के आर्थोपेडिक अस्पताल के चिकित्सकों को खबर मिली कि एमआर बांगुर अस्पताल से एक कोरोना रोगी को वहां लाया जा रहा है, चिकित्सकों और नर्सों के हाथ-पांव फूल गये उन्हें समझ में नहीं आ रहा था कि क्या करे क्या नहीं। इसके बाद डरकर सारे लोग अस्पताल छोड़ बाहर निकल गये। उन्होंने मांग की जबतक उन्हें पीपीई किट उपलब्ध नहीं कराये जायेंगे वे तबतक काम नहीं करेंगे। 

डीआरएम ने कहा ः इस मुद्दे पर बात करने पर पूर्व रेलवे हावड़ा डिवीजन के मुख्य मंडल प्रबंधक इसाक खान से जब फोन पर इस संदर्भ में जानकारी ली गई तो उन्होंने कहा कि कोलकाता के एमआर बांगुर अस्पताल से कोरोना के एक मरीज को रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद उसे छुट्टी दे दी गई है हालांकि उसे 14 दिनों के लिये क्वारोंटाइन मे रखने का निर्देश दिया गया है, इसलिए उसे आर्थोपेडिक अस्पताल में लाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इसी बात से कुछ लोग घबरा गये है। डीआरएम ने कहा कि हमारे पास पीपीई किट उपलब्ध है, जरूरत पड़ने पर अस्पताल को उपलब्ध कराया जायेगा, इसके साथ ही चिकित्सा के लिये सभी जरूरी चिकित्सा सामाग्री उपलब्ध कराये जायेंगे। वहीं दूसरी ओर पूर्व रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी निखिल कुमार चक्रवर्ती ने फोन पर बताया कि प्रदर्शनकारियों की मांगो को पूरा कर दिया गया है।