About Me

header ads

ममता बनर्जी ने दो टूक कहा- बंगाल में रहने वाले सभी बांग्लादेशी भारतीय नागरिक


नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) का पुरजोर विरोध कर रहीं बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी ने दो-टूक कहा कि बंगाल में रह रहे सभी बांग्लादेशी भारतीय नागरिक हैं.  उत्तर बंगाल के दौरे पर पहुंची ममता ने कालियागंज में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा-'जो लोग बांग्लादेश से आए हैं और यहां मतदान कर रहे हैं, वे भारतीय नागरिक हैं. उन्हें नए सिरे से नागरिकता के लिए आवेदन करने की जरुरत नहीं है.

वे ही पीएम, सीएम निर्वाचित करते आ रहे हैं अब उन्हें कहा जा रहा है कि वे इस देश के नागरिक नहीं 

वे ही पीएम और सीएम निर्वाचित करते आ रहे हैं और अब उन्हें ही कहा जा रहा है कि वे इस देश के नागरिक नहीं हैं.' ममता ने के बार फिर दोहराया कि बंगाल में रह रहे किसी भी शरणार्थी को नागरिकता से वंचित नहीं किया जाएगा। वे बंगाल से एक भी व्यक्ति को निकालने नहीं देंगी. 

ममता ने दिल्ली हिंसा पर मोदी पर साधा निशाना, कहा- हम बंगाल को दूसरी दिल्ली नहीं बनने देंगे

मुख्यमंत्री ने दिल्ली में हुई हिंसक वारदातों को लेकर भी मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा-'मत भूलिए, यह बंगाल है. दिल्ली में जो हुआ, वो बंगाल में होने नहीं दिया जाएगा. हम बंगाल को दूसरी दिल्ली या उत्तर प्रदेश में बदलते देखना नहीं चाहते.' 

..तो बंगाल में हुईं हिंसात्मक घटनाओं की भी निंदा कीजिए- राज्यपाल

दिल्ली हिंसा पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के प्रायोजित नरसंहार वाले विवादास्पद बयान पर राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने भी कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है. उन्होंने कहा-'हर तरह की हिंसा की निंदा की जानी चाहिए। चुनकर हिंसा की किसी घटना की निंदा करना सही नहीं है. इस मामले में राजनीतिक भेदभाव को स्वीकार नहीं किया जा सकता.' धनखड़ हावड़ा में एक कार्यक्रम में मीडिया से मुखातिब थे.