About Me

header ads

आठवां अजूबा होगा अयोध्या में बनने वाला राम मंदिर, कामेश्वर चौपाल बाेले- 100 एकड़ में बनेगा परिसर


अयोध्या में रामजन्म भूमि पर बनने वाला राम मंदिर विश्व का आठवां आश्चर्य होगा. सौ एकड़ क्षेत्र में मंदिर का परिसर होगा. इसके लिए गांव-गांव अभियान चलेगा। ये बातें रामजन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के स्थाई सदस्य कामेश्वर चौपाल ने शनिवार को बेगूसराय के बरौनी में मीडिया से कहीं. उन्‍होंने कहा कि 25 मार्च से मंदिर के लिए मिट्टी की जांच शुरू हो जाएगी.  

उन्होंने कहा कि मंदिर के निर्माण के लिए 70 एकड़ जमीन दी गई है. लेकिन ट्रस्ट कम से कम सौ एकड़ जमीन पर मंदिर का निर्माण कराने के लिए प्रयासरत है. शेष 30 एकड़ भूमि की व्यवस्था ट्रस्ट अपने प्रयास से करने में लगी है. उन्‍होंने कहा कि राम मंदिर बनाने के लिए पहले भी तीन लाख गांव के रामभक्तों ने सहयोग राशि के रूप में सवा-सवा रुपये दिए थे. राम भक्तों को और सहयोग राशि देनी होगी. यह मंदिर करोड़ों लोगों की आस्था का प्रतीक होगा. 

उन्होंंने कहा कि कई कॉरपोरेट घराने इस काम में सहयोग देने के लिए बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं. मंदिर के निर्माण की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है. आगामी 25 मार्च तक मिट्टी जांच का काम पूरा होने की संभावना है. इसके बाद भूमि को समतल बनाने का कार्य शुरू कर दिया जाएगा. 

विहिप के प्रांतीय अध्यक्ष (उत्तर बिहार) कृष्णदेव झा ने कहा कि 25 मार्च से 8 अप्रैल 2020 तक गांव-गांव में जाकर जागरुकता अभियान चलाया जाएगा, ताकि आम लोग इसमें बढ़-चढ़कर हिस्सा ले सकें. इससे पूर्व विहिप बेगूसराय जिला की बैठक का आयोजन किया गया, जिसमें विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की गई.