प्रशांत किशोर ने CM नीतीश से मांगा जवाब-15 साल का 'सुशासन' फिर भी बिहार गरीब क्यों...


चुनावी रणनीतिकार और जदयू से निष्कासित पूर्व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) ने एक बार फिर ट्वीट कर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) पर निशाना साधा है. प्रशांत किशोर ने अपने ट्वीट में नीतीश कुमार से पूछा है कि 15 साल के "सुशासन" के बावजूद बिहार आज भी देश का सबसे पिछड़ा और गरीब राज्य क्यों हैं?

प्रशांत ने ट्वीट में लिखा, "पटना में जदयू (JDU) के कार्यकर्ताओं की “भारी भीड़” को सम्बोधित करते हुए नीतीश कुमार ने 200 सीटें जीतने का दावा किया लेकिन ये नहीं बताया कि 15 साल के उनके “सुशासन” के बावजूद बिहार आज भी देश का सबसे पिछड़ा और गरीब राज्य क्यों हैं? 

प्रशांत किशोर जदयू में रहते हुए भी सीएए, एनआरसी और एनपीआर को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमलावर रहे और यही वजह रही कि पार्टी विरोधी बयानों के कारण उन्हें जदयू से निकाल दिया गया. इसके बाद प्रशांत किशोर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके बताया था कि उनके और नीतीश कुमार के बीच किन वजहों से मतभेद थे.

प्रशांत किशोर ने नीतीश कुमार के बारे मेंकहा था कि नीतीश कुमार ने उन्हें बेटे की तरह रखा. उन्होंने कहा कि उन्हें पार्टी से निकाल दिया गया, लेकिन मैं फिर भी उनका सम्मान करता हूं. हमारे बीच विचारधारा की लड़ाई है. मेरा मानना है कि बापू और गोडसे की विचारधारा एक साथ नहीं चल सकती. 

इतना ही नहीं, प्रशांत किशोर ने दिल्ली हिंसा को लेकर भी नीतीश से सवाल किया. उन्होंने लिखा कि दिल्ली हिंसा पर आपकी ओर से एक भी शब्द नहीं कहना भी गलत था. दिल्ली हिंसा में जान गंवाने वालों की संख्या बढ़कर अब 46 हो गई है। इसके अलावा, सैकड़ों लोग घायल बताए जा रहे हैं. 

बता दें कि रविवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का जन्मदिन था और साथ ही पटना के गांधी मैदान में जदयू के द्वारा कार्यकर्ता सम्मेलन का भी आयोजन किया गया था. इस सम्मेलन को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव NDA के साथ ही लड़ेंगे और 200 से ज्‍यादा सीटें जीतेंगे.